लखनऊ, राज्य ब्यूरो। गलत काम करने वालों की संपत्ति जब्त करने के बारे में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के ट्वीट पर कांग्रेस महासचिव प्रियंका वाड्रा ने पलटवार किया है कि जायज मांगों के लिए आवाज उठाने वालों के खिलाफ डराने और धमकाने के लिए सत्ता का दुरुपयोग करना घोर अपराध है। योगी ने बुधवार को ट्वीट कर युवाओं से अपील की थी कि वे किसी के बहकावे में न आएं। ट्वीट में उन्होंने यह भी कहा था कि 'आज कोई गलत नहीं कर सकता है। जिसको अपनी प्रापर्टी जब्त करवानी हो, वह गलत कार्य करें। योगी के ट्वीट को टैग करते हुए प्रियंका ने पलटवार किया। उन्होंने लिखा कि 'इस देश में अपनी आवाज उठाना, प्रदर्शन करना और अपनी मांगों के लिए आंदोलन करना एक संवैधानिक अधिकार है। जायज मांगों के लिए आवाज उठाने वालों को डराने और धमकाने के लिए सत्ता का दुरुपयोग करना एक घोर अपराध है। जिस प्रापर्टी पर योगी बैठे हैं, वह उनकी नहीं...देश की जनता की है।'

प्रियंका का यह ट्वीट उस समय आया जब पेगासस स्पाईवेयर के जरिये फोन हैकि‍ंग के विरोध में कांग्रेस कार्यकर्ता प्रदेश के जिलों में प्रदर्शन कर रहे थे। राजधानी लखनऊ में स्वास्थ्य भवन से राजभवन तक कांग्रेसियों का प्रदर्शन होना था। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू और पार्टी के विधानमंडल दल की नेता आराधना मिश्रा 'मोना' को प्रदर्शन में भाग लेने से रोकने के लिए पुलिस दोनों नेताओं के आवास पर पहुंची। दोनों नेताओं को पुलिस गिरफ्तार कर ईको गार्डेन ले गई।

प्रदर्शन में शामिल होने के लिए स्वास्थ्य भवन चौराहे पर पहुंचे कांग्रेस के मीडिया विभाग के चेयरमैन नसीमुद्दीन सिद्दीकी, एमएलसी दीपक सि‍ंह, पूर्व सांसद राकेश सचान, पूर्व विधायक श्याम किशोर शुक्ला व सतीश अजमानी समेत अन्य कार्यकर्ताओं को भी पुलिस गिरफ्तार कर ईको गार्डेन ले गई। सभी कांग्रेसी नेताओं व कार्यकर्ताओं को शाम को रिहा कर दिया गया।

Edited By: Anurag Gupta