लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश में 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर बेहद गंभीर हो चुकीं कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा प्रदेश के हर कोने में अपनी मौजूदगी दर्ज कराने के साथ ही किसी भी पीड़ित परिवार के साथ खड़ी रहने को आतुर हैं। प्रियंका गांधी वाड्रा शुक्रवार को अपने पुरखों की धरती प्रयागराज के दौरे पर है।

प्रयागराज में एक ही परिवार के चार लोगों की हत्या के बड़े मामले में कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा बेहद संवेदनशील हैं। प्रियंका गांधी शुक्रवार को नई दिल्ली से प्रयागराज पहुंची हैं। वह फाफामऊ में चार लोगों की हत्या के बेहद गमगीन परिवार के लोगों से मिलेंगी। प्रयागराज एयरपोर्ट पर प्रियंका गांधी के आगमन के बाद से प्रशासनिक अमला भी बेहद सतर्क है। प्रशासन पहले तो प्रियंका गांधी वाड्रा को पीडि़त घर पहुंचने से रोकने के प्रयास में था। अब प्रशासन प्रियंका गांधी वाड्रा को पांच सदस्यों की कमेटी के साथ प्रशासन ने घटनास्थल पर ले जाने की तैयारी कर रहा है। वहां वह पीडि़त परिवार का दर्द साझा करेंगी। प्रशासन में मंथन चल रहा है कि एयरपोर्ट से सीधे प्रियंका वाड्रा को पांच सदस्यों की कमेटी के साथ घटनास्थल पर ले जाया जाए। शेष कांग्रेसियों को यहीं रोक दिया जाए। कांग्रेसी पूरेे दल-बल के साथ पीडि़त के गांव जाने की तैयारी में हैं। घटनास्थल पर नेताओं के जमघट को देखते हुए सुरक्षा बढ़ा दी गई है। बताया जा रहा है कि प्रियंका गांधी वाड्रा शुक्रवार को पीडि़त परिवार के लोगों के साथ रुकेंगी। शनिवार सुबह यहीं से महोबा निकल जाएंगी।

कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा शुक्रवार को दिन में फाफामऊ के एक गांव में दलित परिवार की किशोरी के साथ सामूहिक दुष्‍कर्म के बाद पूरे परिवार की हत्या का मामला सामने आने के प्रयागराज के दौरे पर रहेंगी। जिला प्रशासन की तरफ से केवल पांच लोगों को अनुमति दिए जाने पर मंथन चल रहा है। उधर, पोस्‍टमार्टम के बाद चारों के शव परिजनों को सौंप दिया गया है। अंतिम संस्‍कार न करने को लेकर ग्रामीण हंगामा कर रहे हैं। प्रशासन उन्‍हें मनाने की कोशिश में जुटा है।

प्रियंका गांधी वाड्रा इससे पहले भी लखीमपुर खीरी में आठ लोगों की हत्या के बाद आगरा में थाना में एक की मौत के बाद उनके परिवार के लोगों से मिली थीं। इतना ही नहीं उन्होंने कांग्रेस की तरफ से पीडि़त परिवार के लोगों को सांत्वना देने के साथ ही आर्थिक सहायता भी उपलब्ध कराई थी। प्रियंका गांधी वाड्रा के आज के प्रयागराज दौरे को लेकर भाजपा के साथ ही अन्य दलों की भी निगाह लगी हुई है।

गौरतलब है कि मंगलवार की रात को प्रयागराज में जमीन की रंजिश में नाबालिग दलित से सामूहिक दुष्कर्म कर पूरे परिवार की कुल्हाड़ी से काटकर हत्या कर दी गई। फाफामऊ थाना क्षेत्र के गांव में इस सनसनीखेज वारदात को अंजाम मंगलवार रात दिया गया। दो दिन तक चारों शव घर में ही पड़े रहे और किसी को इसकी भनक तक नहीं लगी। गुरुवार सुबह इसकी जानकारी मिलने पर ग्रामीणों की भीड़ जुट गई। आइजी, डीएम, एसएसपी समेत अन्य अधिकारी मौके पर पहुंचे। फोरेंसिंक और डाग स्क्वायड की टीम ने जांच पड़ताल की। मामले के राजफाश के लिए पुलिस की चार टीमें बनाई गईं हैं, साथ ही क्राइम ब्रांच और एसटीएफ को भी लगाया गया है। मृतक के भाई की तहरीर पर गांव के 11 लोगों पर मुकदमा दर्ज किया गया है। पुलिस ने छह लोगों को हिरासत में लिया है। आइजी डा. राकेश सिंह ने इंस्पेक्टर फाफामऊ रामकेवल पटेल व सिपाही सुशील सिंह को निलंबित कर दिया है।

Edited By: Dharmendra Pandey