लखनऊ। अहमामऊ स्थित सरोज इंस्टीट्यूट के बीटेक तृतीय वर्ष के छात्र मो. आरिफ (21) की मौत से नाराज साथी छात्रों ने आज सुबह कॉलेज में हंगामा कर दिया। छात्रों ने कालेज परिसर में खड़े वाहनों में तोडफ़ोड़ शुरू कर दी और सुलतानपुर रोड पर जाम लगा दिया।

तिर्वा कन्नौज निवासी रईश अहमद ब्लाक में क्लर्क हैं। उनका बेटा मो. आरिफ सरोज इंजीनियरिंग कॉलेज से बीटेक तृतीय वर्ष (सिविल) का छात्र था। सोमवार देर रात वह कन्नौज से लौटा था और कॉलेज के बाहर खून से लथपथ पड़ा मिला था। साथी छात्र पुलिस की मदद से आरिफ को क्षेत्र स्थित अस्पताल लेकर पहुंचे जहां से उसे सिविल भेज दिया गया। सिविल पहुंचते ही डॉक्टरों ने आरिफ को मृत घोषित कर दिया। छात्रों ने कॉलेज प्रबंधतंत्र पर लापरवाही का आरोप लगाकर मंगलवार सुबह कैंपस में तोडफ़ोड़ कर दी। एसपी ग्र्रामीण प्रताप गोपेंद्र यादव ने समझा-बुझाकर छात्रों को शांत कराया। प्रत्यक्षदर्शी गार्डों ने बताया कि रात आजमगढ़ डिपो की रोडवेज बस से छात्र कॉलेज के गेट के पास पहुंचा। इस बीच कंडक्टर से उसका झगड़ा हो गया। कंडक्टर ने धक्का देकर उसे गिरा दिया था जिससे वह घायल हो गया था। घटना की जानकारी पर पहुंचे छात्र के पिता रईश अहमद ने अज्ञात बस चालक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है।

कॉलेज प्रबंधतंत्र ने नहीं की मदद

छात्र के साथियों का आरोप है कि आरिफ कॉलेज के बाहर पड़ा तड़पता रहा। कॉलेज प्रबंधतंत्र ने उसे अस्पताल में भर्ती नहीं कराया। सूचना पर पहुंचे साथी छात्र घायल आरिफ को क्षेत्र स्थित नर्सिंग होम लेकर पहुंचे। वहां पर किसी ने दरवाजा नहीं खोला। लौट कर वह पुन: कॉलेज आए काफी गुहार लगाने के बाद भी कॉलेज प्रबंधतंत्र से कोई नहीं आया और न ही किसी गाड़ी की व्यवस्था की गई। वह पुलिस की मदद से अस्पताल लेकर पहुंचे। तबतक आरिफ की मौत हो चुकी थी।

Posted By: Nawal Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस