लखनऊ, जेएनएन। राजधानी में अत्यधिक ठंड व तेज़ शीतलहर को देखते हुए प्री प्राइमरी से कक्षा 8 तक के सभी बोर्ड के सभी विद्यालय शुक्रवार को भी बंद करने के आदेश दिए गए हैं। गुरुवार से हो रही लगातार बारिश को देखते हुए प्री प्राइमरी से लेकर कक्षा आठ तक के विद्यालय बंद किए गए थे। वहीं शुक्रवार को भी भारी बारिश की संभावना है जिसकी वजह से प्री प्राइमरी से कक्षा आठ तक के स्कूल बंद रहेंगे। पहाड़ों पर हो रही बर्फबारी और मैदानी इलाकों में बारिश ने ठंड बढ़ा दी है। राजधानी लखनऊ में बुधवार शाम से शुरू हुई बारिश गुरुवार दिन भर होती रही। दिन भर झमाझम पानी बरसा। जिसके चलते लोग घरों में कैद रहे। ठंड ने भी अपने तेवर दिखाने शुरू कर दिए। उराजधानी में अत्यधिक ठंड व तेज़ शीतलहर को देखते हुए जनपद के प्री प्राइमरी से कक्षा 8 तक के सभी बोर्ड के सभी विद्यालय शुक्रवार को भी बंद रहेंगे। जिलाधिकारी ने ये निर्देश दिए हैं, बता दें कि गुरुवार को भी लगातार हो रही बारिश को देखते हुए प्री प्राइमरी से लेकर कक्षा आठ तक के विद्यालय बंद किए गए थे। वहीं कक्षा 9 से 12 तक की कक्षाएं सुबह 10 से दोपहर 3 बजे के बीच में संचालित की जाएंगी। पूरे प्रदेश में अगले दो दिन तेज बारिश की संभावना है। 

राज्य में दक्षिणी-पूर्वी हवाओं की मौजूदगी है। नतीजा, मंगलवार रात से ही आसमान में बादल छा गए। बुधवार को दोपहर में राजधानी समेत पश्चिमी व पूर्वी इलाकों में रिमझिम बारिश हुई। ऐसे में राजधानी का अधिकतम तापमान चार डिग्री सेल्सियस लुढ़क गया। यह 17.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। वहीं, न्यूनतम तापमान सामान्य से चार डिग्री अधिक 11.7 सेल्सियस रहा। इसके अलावा गोरखपुर का अधिकतम तापमान सामान्य से एक डिग्री कम, वाराणसी का दो डिग्री, सुलतानपुर का दो डिग्री, उरई, झांसी, कानपुर, मेरठ का पांच डिग्री पारा लुढ़का। 

मौसम विभाग के निदेशक जेपी गुप्ता के मुताबिक, बुधवार को पूर्वी व पश्चिम के कुछ इलाकों में शुरू हुई ही बारिश गुरुवार को पूरे प्रदेश में हुई। शुक्रवार को भी बूंदाबांदी के आसार हैं। कृषि विशेषज्ञों के अनुसार हल्की बारिश से आलू, सरसों की फसलों में रोग लगने से उनको नुकसान पहुंचेगा। आलू में झुलसा रोग और सरसों में माहू और कीट का प्रकोप बढ़ेगा। 

 

कानपुर में मौसम के करवट लेने के बाद ठंड एक बार फिर लौट आई। बुधवार को कानपुर में चार मिमी. बारिश हुई। वहीं, आसपास के जिलों में भी छिटपुट बूंदाबांदी और बदली से मौसम बदल गया। पूर्वांचल में मौसम में उतार-चढ़ाव जारी है। बुधवार को सूरज ने बादलों में लुका-छिपी का खेल चलता रहा। वाराणसी में न्यूनतम 10.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। 

गोरखपुर और आसपास के क्षेत्रों में बुधवार को दिन की शुरुआत घने कोहरे और कड़ाके की ठंड के बीच हुई, जिसकी वजह से न्यूनतम तापमान 9.8 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। मेरठ में कोहरा, ठंड व शीतलहर की मार निरंतर जारी है। बुधवार को मेरठ और शामली में न्यूनतम तापमान 8.0, सहारनपुर में 8.5, बुलंदशहर में 11, बिजनौर में 6.8, मुजफ्फरनगर में 7.2, बागपत में 9.0 डिग्री सेल्सियस रहा। अलीगढ़ में धूप खिलखिला कर निकली। शाम होते ही शीतलहर चलने लगी। न्यूनतम 13 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। हाथरस में भी ऐसा ही मौसम रहा। बरेली में ठंड और कोहरा का कहर जारी है। 

हालांकि, बुधवार को दिन में धूप निकल आने से लोगों को गलन से थोड़ी राहत जरूर मिली। न्यूनतम तापमान करीब 10 डिग्री रहा। आगरा में बुधवार को मौसम ने कई रंग दिखाए। सुबह से तेज धूप निकली तो बीच में बादल भी छाए रहे। दोपहर में तीखी धूप ने पसीना निकाल दिया। शाम को कुछ जगह बारिश भी हुई। फीरोजाबाद में सुबह से ही तेज धूप निकली। न्यूनतम 15 डिग्री सेल्सियस रहा। मैनपुरी में न्यूनतम 14, एटा में न्यूनतम 9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मथुरा में तेज धूप होने से ठंड का प्रभाव कुछ कम रहा। न्यूनतम आठ डिग्री सेल्सियस रहा। शाम को बादल घिरने और तेज हवा का जोर रहा। 

 

Posted By: Divyansh Rastogi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

जागरण अब टेलीग्राम पर उपलब्ध

Jagran.com को अब टेलीग्राम पर फॉलो करें और देश-दुनिया की घटनाएं real time में जानें।