लखनऊ, [निशांत यादव]। कोर्ट के आदेश के बावजूद अपने घर को हासिल करने के लिए भटक रही दिवंगत कर्नल की पत्नी ने अपनी पीड़ा का वीडियो बनाकर उसे इंटरनेट मीडिया पर अपलोड कर दिया। देखते ही देखते देश भर में यह वीडियो सैन्य अफसरों के बीच वायरल हो गया। वीडियो का संज्ञान उत्तर प्रदेश सरकार ने भी लिया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कड़े निर्देश के बाद सोमवार शाम को ही दिवंगत कर्नल का घर खाली कराकर उनकी पत्नी को सौंपने के आदेश दे दिए गए। पैराट्रूपर कर्नल रंजन मिनोचा सेना के जांबाज अफसर थे। पिछले साल 10 जुलाई को कर्नल मिनोचा का निधन हो गया था। उनकी अंतिम तैनाती प्रयागराज में ही थी। जहां उन्होंने कुंभ के सफल आयोजन में महत्वपूर्ण जिम्मेदारी निभाई थी।

सेना ने उनके योगदान के लिए संगम के पास कर्नल रंजन मिनोचा के नाम से एक परेड ग्राउंड भी बनाया। कर्नल का कैसरबाग में अपना घर है। कैसरबाग एवेन्यु स्थित उनके घर में परिवहन विभाग का राज्य परिवहन अपीलीय न्यायाधिकरण का कार्यालय चल रहा है। कर्नल रंजन मिनोचा की पत्नी सोनिया मिनोचा ने 2:16 मिनट के अपने वीडियो में कहा कि कोर्ट ने उनके घर को खाली कराने के आदेश दिए थे। लेकिन, पिछले 20 साल से परिवहन विभाग ने उनके घर पर अवैध रूप से कब्जा रखा है। सोनिया मिनोचा ने दैनिक जागरण को बताया कि उनके पति जब जीवित थे तो वह लगातार अपना घर खाली कराने के लिए सिस्टम से लड़ते रहे। मेरे पास रहने के लिए कोई घर नहीं हैं। जनरल लांबा, जनरल नरवणे, जनरल शर्मा (मेजर जनरल राजीव शर्मा जीओसी मध्य यूपी सब एरिया लखनऊ) पिछले एक साल से परिवहन विभाग से कोर्ट के आदेश के अनुसार घर वापस दिलाने की कोशिश कर रहे हैं। लेकिन परिवहन विभाग वहां से हटने को तैयार नहीं।

लखनऊ के डीएम भी अपने को असहाय बताते रहे। वीडियो वायरल होने के बाद मध्य कमान के पूर्व स्टाफ अध्यक्ष ले. जनरल (अवकाश प्राप्त) आरपी साही के प्रयासों से मुख्यमंत्री ने पीड़िता को त्वरित राहत पहुंचाने के आदेश दिए। ले. जनरल साही ने बताया कि सीएम सैन्य परिवारों के कल्याण के लिए सदैव तत्पर रहते हैं। उनके आदेश पर प्रमुख सचिव राजेश कुमार सिंह ने परिवहन आयुक्त को पत्र लिखकर जेसी बोस मार्ग स्थित एलडीए आफिस के कक्ष संख्या 25 व 26 में राज्य परिवहन अपीलीय न्यायाधिकरण को शिफ्ट करने का निर्देश दिया है। इसके लिए उ'च न्यायालय से अनापत्ति पत्र भी हासिल करना होगा। वहीं ब्रिगेडियर (अवकाश प्राप्त) अरविंद सिंह ने डीएम अभिषेक प्रकाश से मुलाकात कर दिवंगत कर्नल का घर जल्द वापस दिलाने का आग्रह किया। जबकि सपा सैनिक प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष कर्नल शरद ने भी इस प्रक्रिया को जल्द पूरा कर उनका घर लौटाने की मांग की है।

Edited By: Vikas Mishra