लखनऊ [राज्य ब्यूरो]। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में अवैध और डग्गामार बसों के खिलाफ सख्त अभियान चलाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि देखने में आ रहा है कि डग्गामार बसें उत्तर प्रदेश की सीमाओं से होकर विभिन्न राज्यों की ओर जा रही हैं। ये बसें ओवरलोड होती हैं, इन बसों की स्थिति भी जर्जर होती है, जिससे दुर्घटना होने की आशंका बनी रहती है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने परिवहन विभाग को विशेष सतर्कता बरतते हुए डग्गामार बसों का संचालन रोकने के निर्देश दिए। साथ ही परमिट सहित अन्य दस्तावेजों की जांच कराने को कहा है। सीएम योगी ने ओवरलोडिंग के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश भी अफसरों को दिए।

दरअसल, पिछले दिनों बाराबंकी में जो बस हादसे का शिकार हुई, उसमें भी ओवरलोडिंग का मामला सामने आ रहा है। 85 यात्रियों वाली इस बस में 135 यात्री सवार थे। ओवरलोड होने के कारण पहले बस का टायर पंचर हुआ, फिर एक्सल टूट गया। रात में खड़ी बस को ट्रक ने टक्कर मार दी, जिसमें 18 लोगों की मौत हो गई थी।

इसके अलावा कई अन्य राज्यों की ओवरलोड बसें पूर्वांचल होकर बिहार जाती हैं। अक्सर ये डग्गामार बसें दुर्घटना का शिकार हो जाती हैं। इसी को देखते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को टीम-नाइन की बैठक में डग्गामार बसों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने बैठक में कहा कि प्रदेश में अवैध शराब की निर्माण, क्रय, विक्रय की एक भी घटना घटित न हो। अवैध शराब के ठिकानों पर छापामार कार्रवाई की जाए। अवैध शराब के खिलाफ प्रदेशव्यापी अभियान और तेज किया जाए। दोषियों के खिलाफ कठोरतम कार्रवाई होनी चाहिए। सीएम योगी ने कहा कि नोएडा में माइक्रोसॉफ्ट, अडानी व एक अन्य औद्योगिक समूह द्वारा डेटा सेंटर की स्थापना की प्रक्रिया प्रस्तावित है। इस संबंध में सभी आवश्यक औपचारिकताएं तेजी से पूरी की जाएं।

Edited By: Umesh Tiwari