लखनऊ [राज्य ब्यूरो]। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पुरुष आरक्षियों की तरह थानों में महिला पुलिसकर्मियों को भी बीट इंचार्ज बनाने का निर्देश दिया है। इसके लिए उन्होंने महिला सिपाहियों की संख्या बढ़ाने को कहा है। उन्होंने हर थाने में एक महिला उप निरीक्षक भी नियुक्त करने की जरूरत बताई है। कहा कि चरणबद्ध ढंग से इसकी शुरुआत प्रदेश के चारों पुलिस कमिश्नरेट के थानों से की जा सकती है। उन्होंने गृह विभाग से इस विषय के सभी पहलुओं पर गंभीरता से विचार करने के लिए कहा है।

शुक्रवार को अपने सरकारी आवास पर मिशन शक्ति के तीसरे चरण की शुरुआत के मौके पर हुए प्रस्तुतीकरण के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि महिला संबंधी अपराधों में न्यायिक प्रक्रिया चलने में कई वर्ष लग जाते हैं। पीड़िताएं महिला आरक्षी या उप निरीक्षक की मौजूदगी में खुलकर बात कर सकती हैं। इसलिए महिला पुलिसकर्मियों को बीट इंचार्ज बनाया जाए, जो गांवों में जाकर महिलाओं से बात कर सकें और अपराध होने पर थाने को तत्काल सूचना देकर अपेक्षित कार्यवाही करें। इसके लिए न्याय पंचायत भवन या आंगनबाड़ी केंद्रों में एक कमरा इन महिला बीट इंचार्ज के लिए आरक्षित किया जा सकता है, जिसका नाम मिशन शक्ति कक्ष होना चाहिए।

महिला अपराधों पर अंकुश लगाने के लिए उन्होंने शक्ति मोबाइल को और सक्रिय करने पर जोर दिया।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अपनी समस्या लेकर थाने आने वाली महिलाओं और बालिकाओं को वहां स्थापित महिला हेल्पडेस्क से पूरी मदद मिलनी चाहिए। उन्होंने 1090 विमेन पावर लाइन पर दर्ज होने वाली शिकायतों का प्रभावी निस्तारण शिकायतकर्ता महिला/बालिका की संतुष्टि के अनुरूप करने का निर्देश दिया।

आपस में जोड़े जाएं सीसीटीवी कैमरे : मुख्यमंत्री ने कहा कि महिलाओं की सुरक्षा के मद्देनजर सार्वजनिक व निजी क्षेत्र, माल, कार्यालयों आदि में स्थापित सीसीटीवी कैमरों को आपस में जोड़ा जाए। सड़कों पर समुचित मार्ग प्रकाश की व्यवस्था करने का भी निर्देश दिया।

गृह विभाग होगा नोडल विभाग : मुख्यमंत्री ने गृह विभाग को मिशन शक्ति का नोडल विभाग नामित किया। उन्होंने कहा कि विभाग हर स्तर पर मिशन शक्ति के क्रियान्वयन की समीक्षा करेगा। उन्होंने कहा कि गृह, स्वास्थ्य, शिक्षा, नगर विकास, महिला कल्याण तथा बाल विकास एवं पुष्टाहार जैसे प्रमुख विभागों को ही मिशन शक्ति में शामिल किया जाए।

महिला जनप्रतिनिधियों की सहभागिता भी होगी : अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक नीरा रावत ने मुख्यमंत्री के समक्ष मिशन शक्ति के बारे में प्रस्तुतीकरण किया। उन्होंने कहा कि मिशन शक्ति में महिला जनप्रतिनिधियों की सहभागिता भी होगी। उत्कृष्ट कार्य करने वालों को सम्मानित भी किया जाएगा। मुख्यमंत्री के समक्ष मिशन शक्ति के तीसरे चरण के बारे में पुलिस महानिरीक्षक, लखनऊ परिक्षेत्र लक्ष्मी सिंह ने भी प्रस्तुतीकरण किया। प्रमुख सचिव महिला कल्याण तथा बाल विकास एवं पुष्टाहार हेकाली झिमोमी ने मुख्यमंत्री को मिशन शक्ति के कार्यों की जानकारी दी।

Edited By: Umesh Tiwari