लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) का कहना है कि उनके ढाई साल का कार्यकाल प्रदेश में सुशासन, सुरक्षा और विकास को रफ्तार देने के साथ ही जनता के विश्वास का प्रतीक बनने का रहा है। बता दें कि उत्तर प्रदेश की योगी सरकार को ढाई साल पूरे हो चुके हैं और इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। सरकार के ढाई वर्ष में विकास योजना को मूर्त रूप देने के साथ भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने और मुख्यमंत्री की परिश्रमी व ईमानदार कार्यशैली के कारण देश दुनिया में उत्तर प्रदेश की छवि बदली है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ढाई साल की अपनी सरकार की उपलब्धियां गिनाईं। विकास और सुशासन के 30 माह पूरे हुए। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 19 मार्च 2017 को कार्यभार संभालने के बाद प्रशासनिक ढांचे में बदलाव की पहल की। सरकार के ढाई वर्ष का कार्यकाल पूरा होने पर आज अपने सरकारी आवास पर उन्होंने डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य व डॉ. दिनेश शर्मा तथा भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह के साथ मीडिया को संबोधित किया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि गुजरे इन सालों में लोगों का नजरिया बदला है। कामकाज की बदौलत उनकी सरकार ने जनता का विश्वास हासिल किया है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हमने प्रदेश में ढाई साल में जो भी किया वह सब टीम वर्क है। हमारे सभी मंत्री अपने विभाग को हर स्तर पर सुधारने में लगे रहे और अब सुधार का अंजाम दिखने लगे है। प्रदेश में 14 वर्ष के वनवास के बाद भाजपा की सरकार ढाई वर्ष पहले बनी थी। हमने प्रदेश को ढाई वर्ष में पहचान के संकट से उबारा। अब विकास और सुशासन के 30 माह पूरे हुए है। किसान प्रदेश में 15 वर्ष से बेहाल थी।

किसान व गरीब सदैव हमारी सरकार की प्राथमिकता पर

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हमारी सरकार ने पहली ही बैठक में लघु और सीमांत किसानों का कर्ज माफ किया। किसान व गरीब सदैव हमारी सरकार की प्राथमिकता पर हैं। हम जब सत्ता में आए थे तो उस समय प्रदेश का किसान बहुत दबा और डरा हुआ था। हम किसानों के हितों को ध्यान में रखते हुए योजना लेकर आए। अपने सकारात्मक प्रयासों के चलते फसल ऋण माफी की सबसे सफल योजना उत्तर प्रदेश में ही रही है। हमने अपनी पहली ही कैबिनेट बैठक में किसान के फसल ऋण को माफ करने का फैसला किया। इसके बाद अनेक प्रदेशों ने हमारे फसल ऋण काफी की नकल की।

हमारी सरकार ने किसानों के लिए किए कई कल्याणकारी कार्य किया है। उत्तर प्रदेश में एक करोड़ 57 लाख से अधिक किसानों को किसान सम्मान निधि मिली है। यूपी के किसानों को देश सबसे बड़ी संख्या में लाभ मिला। यहां ढाई वर्ष में 73 हजार करोड़ से अधिक गन्ना मूल्य का भुगतान हुआ। किसानों को खेत तालाब योजना का लाभ मिला है। लंबे समय से किसान पहले बदहाल था। प्रदेश सरकारों ने इस पर ध्यान नही दिया था। हमने पहली कैबिनेट में ही किसानों का फसली ऋण माफ किया। हमने किसानों की फसल के लिए साइल हेल्थ कार्ड देना शुरू किया। हमने प्रधानमंत्री किसान संम्मान निधि की शुरुआत की। प्रदेश के अंदर किसानों की आय को दोगुना करने के लिए हमने कृषि विज्ञान केंद्र खोले। प्रदेश के अंदर गन्ना किसानों का 73 हजार करोड़ का भुगतान हमारी सरकार ने किया है। 

विकास एवं सुशासन के 30 माह

मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं पीएम नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री एवं भाजपा के अध्यक्ष अमित शाह का आभारी हूं, जिनके निर्देशन में सरकार अपना कार्यकाल सफलता से पूरा कर रही है। बेहतर टीम वर्क के चलते हमारी सरकार ने ढाई साल का ये कार्यकाल विकास एवं सुशासन के 30 माह के तौर पर पूरा किया है।

स्वास्थ्य सुविधाओं में वृद्धि 

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश में स्वास्थ्य सुविधाओं में वृद्धि हुई है। इंसेफ्लाइटिस जैसी बीमारी में 65 प्रतिशत कमी आई है। प्रदेश में आजादी से अब तक कुल 12 मेडिकल कालेज बने थे। वर्तमान सरकार में 15 नए मेडिकल कालेज बन रहे हैं। सात मेडिकल कॉलेज में प्रवेश शुरू हो गया है। दवा के लिए मेडिकल कारपोरेशन की स्थापना की गई है। हम प्रदेश में एक नई मेडिकल यूनिवर्सिटी व दो एम्स बन रहे हैं।

चुनौतियों को अवसर में बदला

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कुशासन के कारण उत्तर प्रदेश के सामने पहचान का संकट खड़ा हो गया था। ढाई वर्ष के इस कार्यकाल ने उत्तर प्रदेश की पहचान को बनाए रखते हुए नए मुकाम हासिल करने का काम किया है। सरकार के सामने कई चुनौतियां थीं, लेकिन उन सभी चुनौतियों को हमने अपने प्रयासों से अवसर में बदल दिया।

माध्यमिक और उच्च शिक्षा की स्थिति बदली 

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार के कार्यकाल में स्कूलों में बच्चों की संख्या बढ़ी है। माध्यमिक और उच्च शिक्षा की स्थिति बदली है। प्रदेश में नकल बन्द हो गई है और सभी को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा मिल रही है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में शिक्षा की गुणवत्ता को बेहतर बनाने की पहल की जा रही है। 

अपराधों में कमी आई 

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश के अपराधों में कमी आई है। अब यूपी अपराधियों का चरागाह नहीं रहा। पुलिस सुधार पर काम हुआ है। पुलिस की 54 कंपनियों को बहाल किया गया है। इसके साथ नए पुलिस मुख्यालय की स्थापना हुई है। जनता की सुरक्षा के कार्य मे तेजी आई। राज्य में अपराध पर लगाम लगाए जाने की बात करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी बेहतर कानून व्यवस्था के चलते गुजरे ढाई सालों में दुर्दांत अपराधी राज्य से बाहर चले गए हैं। डकैती की घटनाओं में 54 फीसदी की कमी आई है। हत्या के मामलों में 15 फीसदी और लूट की घटनाओं में 43 फीसदी की कमी आई है। अपहरण के मामलों में 30 फीसदी और बलवा की घटनाओं में 38 फीसदी की कमी आई है।

यूपी का परसेप्शन बदला

मुख्यमंत्री ने कहा कि जैसे पीएम मोदी जी ने जाति, मद, धर्म से ऊपर उठ कर जनता की प्राथमिकता को केंद्र में रख कर काम शुरू किया था, उसी को देखते हुए हमने काम शुरू किया था। प्रदेश में सरकार बनने के बाद उत्तर प्रदेश के परसेप्शन को बदलने के लिए सरकार ने बड़े स्तर पर काम किया। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हम जनहित की सभी योजनाओं को धरातल पर लाने में सफल रहे। ढाई वर्ष में ग्रामीण क्षेत्र में दो करोड़ 61 लाख शौचालय बने। इसके साथ ही शहरी क्षेत्र में दस लाख से अधिक शौचालय बने। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कन्या सुमंगला योजना में बच्चियों की आर्थिक मदद दी जाएगी। इसके साथ ही प्रदेश में अल्पसंख्यक वर्ग की निर्धन बालिकाओं की मदद होगी। प्रदेश में अब पेंशन धारकों की संख्या बढ़ी है। इसके साथ समाज के वंचित जातियों के विकास के लिए नई योजनाएं लागू की जाएंगी। अभी तक यहां मुसहर, बनटांगिया आदि के लिए काम हुआ है। इसके साथ 10 हजार से अधिक गरीब कन्याओं की शादी में मदद प्रदान की गई है। अब शीघ्र ही कन्या सुमंगला योजना लागू होगी।  मातृत्व वंदन योजना से माताओं को लाभ मिल रहा है। हमने अभी तक दो लाख 25 हजार युवाओं को सरकारी नौकरी दी है।

यातायात बेहद सुगम

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश भर सड़कों का जाल बना है। इसके साथ ही शहरों को हवाई मार्ग से जोड़ा गया है। प्रदेश में सात एयरपोर्ट कनेक्टिविटी है। मेट्रो और रैपिड कनेक्टिविटी भी तेज होगी। 

निवेश से रोजगार के रास्ते खुले 

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि निवेश से 20 लाख नौजवानों को रोजगार के रास्ते खुले है। अब एमएसएमई  से स्वाबलंबन बढ़ा। इसके साथ ओडीओपी ने नए द्वार खोले हैं। हमने पूरे देश मे सबसे ज्यादा निर्यात किया है। हम अगस्त 2020 तक पूर्वांचल एक्सप्रेस खोलेंगे। मेरठ से प्रयागराज तक गंगा एक्सप्रेस वे बनेगा। गंगा एक्सप्रेस वे देश का सबसे बड़ा हो गया है। 

सबसे आगे उत्तर प्रदेश

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अब उत्तर प्रदेश देश में सभी राज्यों से आगे चल रहा है। प्रदेश पीएम आवास निर्माण में भी अग्रणी रहा है। इसके साथ हमने सबसे ज्यादा श्रमिकों का पंजीकरण किया। विश्वकर्मा श्रम सम्मान शुरू किया। यहां माटी कला बोर्ड बनाया गया। अब हम सात शहरों को स्मार्ट सिटी बनाएंगे। प्रयागराज कुम्भ स्वच्छता व सुव्यवस्था का उदाहरण है। अब हर विधानसभा में एक पर्यटन केंद्र विकसित होगा। इसके साथ निवेश से लाखों नौजवानों को नौकरी मिल रही है। प्रदेश में सभी 80 हजार राशन की दुकानों में ई -पाज मशीन लगी है। अब कोई कहीं से राशन खरीद सकता है। 

इससे पहले प्रदेश सरकार के 30 माह पूरे होने पर आज मुख्यमंत्री के सरकारी आवास आयोजित कार्यक्रम के दौरान विकास एवं सुशासन स्मारिका का मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ साथ में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य व उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने विमोचन किया।'

योगी सरकार की ढाई साल की उपलब्धियां

  • योगी शासन में एक भी दंगा नहीं। 4604 मुठभेड़ में 10098 अपराधी गिरफ्तार और 94 दुर्दांत अपराधी मारे गए।
  • बेहतर कानून-व्यवस्था के चलते पिछली सरकार के सापेक्ष ढाई वर्ष में डकैती में 54 प्रतिशत, दुष्कर्म की घटना में 36, हत्या में 15 प्रतिशत, लूट में 45, अपहरण के लिए फिरौती में 30 और बलवा की घटनाओं में 30 फीसद की कमी आई।
  • प्रधानमंत्री आवास योजना में 25 लाख से अधिक परिवारों को लाभ।
  • स्वच्छ भारत मिशन के तहत 2.71 करोड़ शौचालयों का निर्माण।
  • 73 हजार करोड़ रुपये से अधिक गन्ना मूल्य का भुगतान।
  • आयुष्मान भारत योजना में 1.18 करोड़ परिवारों को गोल्डन कार्ड जारी। योजना से वंचित रह गये 10.56 लाख लोगों को मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना से जोड़ा।
  • सौभाग्य योजना में 1.9 करोड़ परिवारों को बिजली कनेक्शन।
  • पीएम किसान सम्मान निधि के तहत प्रदेश के दो करोड़ 33 लाख किसान परिवारों को लाभान्वित करने की प्रक्रिया जारी।
  • ऋण मोचन योजना में 86 लाख लघु एवं सीमांत किसानों की कर्जमाफी।
  • जिला मुख्यालय पर 24 घंटे, तहसील पर 20 और गांवों में 18 घंटे विद्युत आपूर्ति।
  • एक जिला-एक उत्पाद योजना में पांच लाख लोगों को रोजगार। एक लाख 91 हजार लाभार्थियों को 18345 करोड़ रुपये की आर्थिक सहायता।
  • कौशल विकास प्रशिक्षण के लिए 10 लाख युवाओं का पंजीकरण। तीन लाख को प्लेसमेंट।
  • इंवेस्टर्स समिट में कुल 4.68 लाख करोड़ रुपये के एमओयू पर हस्ताक्षर।
  • ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी एक और दो के अतिरिक्त अन्य परियोजनाओं के तहत अब तक कुल दो लाख करोड़ रुपये का निवेश।

Posted By: Dharmendra Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप