लखनऊ (जेएनएन)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश के औद्योगिक घरानों को सर्वश्रेष्ठ सुविधा देने की घोषणा की। वह आज लखनऊ में कंन्फेडरेशन ऑफ इंडियन इंडस्ट्रीज (सीआइआइ) के नेशनल काउंसिल मीट में पहुंचे थे। 

उत्तर प्रदेश में निवेश को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उत्तर प्रदेश में अब नई नीति के तहत ऑनलाइन सिंगल विंडो प्लेटफॉर्म बनाया जा रहा है, जिसकी निगरानी मुख्यमंत्री कार्यालय से की जा रही है। सरकार ने नई औद्योगिक नीति बनाई है। उसमें बेस्ट प्रैक्टिसेज को शामिल करते हुए निवेश को रोजगार सृजन से जोड़ा है। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि 2022 तक हमें उत्तर प्रदेश में युवाओं को स्वरोजगार, किसानों की पैदावार का उचित मूल्य और व्यापारियों के लिए डर का माहौल बदलकर उन्हें सुरक्षित काम करने का माहौल देना है। 

उन्होंने माहौल में बदलाव की बात की और कहा कि सरकार बने अभी महज पांच महीने ही हुए हैं, पर इन्वेस्टमेंट फ्रेंडली माहौल बनाने के लिए तमाम प्रभावी कदम उठाए गए हैं। इसके अलावा एविएशन पॉलिसी के तहत एयर कनेक्टिविटी बढ़ाने के लिए प्रदेश में घरेलू उड़ान पर भी जोर दिया है। उत्तर प्रदेश में उद्योगों के अनुकूल माहौल तैयार है।

मुख्यमंत्री ने आज सीआइआइ की नेशनल काउंसिल बैठक के दौरान देश भर से आए डेलिगेट्स से मुलाकात की। इसके बाद सीएम योगी ने अपनी सरकार की कई उपलब्धियां गिनाईं। इस दौरान उत्तर प्रदेश सरकार के विभिन्न विभागों व सीआईआई के बीच तीन एमओयू पर हस्ताक्षर किए गए।

यह भी पढ़ें:उमा भारती ने कहा-न हमसे इस्तीफा मांगा गया और न ही कोई जानकारी

मुख्यमंत्री ने कहा कि किसानों की क्रय शक्ति में निश्चित ही वृद्धि होगी और इससे प्रदेश की अर्थव्यवस्था में एक नया आयाम स्थापित होगा। अब ऑनलाइन सिंगल विंडो प्लेटफॉर्म बनाया जा रहा है।

यह भी पढ़ें:अखिलेश यादव के हाथों रसूलन बीबी की जगह किसी और का सम्मान

हमने नई औद्योगिक नीति बनाई है, उसमें बेस्ट प्रैक्टिसेज को शामिल करते हुए निवेश को रोजगार सृजन से जोड़ा है। हमने प्रदेश में प्रभावी सुरक्षा व्यवस्था बनाई और अब हर तरफ आशा का माहौल है।

यह भी पढ़ें: विधान परिषद उप चुनाव की पांच सीटों पर भाजपा प्रत्याशी घोषित

यूपी की छवि असुरक्षित व पिछड़े प्रदेश की थी। हमने सभी अफसरों के साथ बैठकर एक व्यवस्था बनाई।

 

By Dharmendra Pandey