UP News: लखनऊ, जेएनएन। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने शुक्रवार को राजधानी के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में आयोजित नेशनल अर्बन प्लानिंग एंड मैनेजमेंट कांक्लेव (National Urban Planning and Management Conclave) के विशेष सत्र को बतौर मुख्य अतिथि संबोधित किया। उन्होंने कहा कि भू-माफिया को अनियोजित कालोनी बसाने से पहले ही मजबूती से रोकना होगा और सुनियोजित नगर विकास पर जोर देना होगा।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि नगर निकायों को विकास के नए माडल अपनाकर आत्मनिर्भर बनने पर जोर देना होगा। अभी ज्यादातर नगर निकायों की यह स्थिति है कि अगर राज्य सरकार वित्तीय मदद न करें तो वह अपने कर्मचारियों का वेतन तक नहीं दे सकते। देश की अर्थव्यवस्था को पांच ट्रिलियन डालर तक पहुंचाने के लिए यूपी की अर्थव्यवस्था को भी एक ट्रिलियन डालर तक लाना होगा और इसमें सुनियोजित नगरीय विकास की बहुत बड़ी भूमिका होगी।

उन्होंने कहा कि देश में सर्वाधिक 24 करोड़ की आबादी वाले राज्य यूपी अगर विकास में पिछड़ा तो देश विकास की बुलंदी पर नहीं पहुंच पाएगा। यह माना जाता है कि अगर योजना यूपी में फेल हो गई तो देश में भी सफल नहीं होगी। पांच साल पहले प्रदेश में अर्बनाइजेशन की गति बहुत धीमी थी और नगरीय विकास सुनियोजित ढंग से नहीं होता था। शहरों में रहने वाले लोगों का जीवन नारकीय था। बीते पांच वर्षों में काफी सुधार करने की कोशिश की गई है और यह प्रक्रिया आगे भी जारी है। केंद्र की योजनाओं को सबसे बेहतर ढंग से लागू करने पर जोर दिया जाता है।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों को सलाह दी कि वह इस दो दिवसीय कांक्लेव की मदद से अपने नगरी निकाय के लिए एक अच्छा प्रेजेंटेशन तैयार करें और महापौर, सांसद तथा विधायक से चर्चा कर उसे लागू करवाने का प्रयास करें। अर्बन प्लानिंगऔर मैनेजमेंट समय की मांग है। जब पैसा देकर भी लोग सुविधा नहीं पाते हैं तो उनका भरोसा व्यवस्था से उठता है।

कार्यक्रम में नगर विकास और ऊर्जा मंत्री एके शर्मा ने कहा कि अर्बन सेक्टर में बहुत कुछ काम करने की जरूरत है। ईज आफ लिविंग से ही ईज आफ डूइंग बिजनेस संभव है। कोई भी निवेशक आपके प्रदेश में तभी निवेश करेगा जब उसे भरोसा होगा कि संकट के समय शासन उसकी मदद करेंगे और उनकी कंपनी के अफसरों को प्रदेश में रहने के लिए बेहतर सुविधाएं मिलेंगी। उन्होंने कहा कि अगर हम झाड़ू लगाते हैं तो यह क्वालिटी आफ लाइफ की ओर बड़ा कदम है। ग्लोबल स्तर पर यह देखा जाता है कि शहर में साफ सफाई के साथ कितनी अच्छी सुविधाएं हैं।

उन्होंने कहा कि 28 मई नगर पालिका गठित की गई और 52 नगर पंचायतों का विकास किया गया। प्लानिंग के अभाव में सड़क बनने के बाद जल निगम द्वारा सीवर डालने, टेलीफोन के तार डालने और गैस पाइपलाइन के लिए उसे न खोदा जाए इसकी पहले से प्लानिंग करनी होगी। कार्यक्रम में केंद्र सरकार द्वारा गठित उच्च स्तरीय कमेटी के चेयरमैन केशव वर्मा ने योगी सरकार के कार्यों की प्रशंसा की। कार्यक्रम में प्रमुख सचिव आवास नितिन रमेश गोकर्ण ने भी मौजूद रहे।

Edited By: Umesh Tiwari