लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश को देश का सबसे बड़ा धार्मिक पर्यटक स्थल बनाने की दिशा में तेजी से काम चल रहा है। देश और विदेश के पर्यटक अयोध्या में 84 कोस परिक्रमा फोरलेन मार्ग से कर सकेंगे। इसे को राष्ट्रीय राजमार्ग घोषित किया जा चुका है। इसी क्रम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या में चौदह कोसी परिक्रमा मार्ग पर सूर्यकुंड स्थित रेलवे समपार संख्या 105 पर दो लेन रेलवे ओवर ब्रिज के निर्माण कार्य के लिए 92 करोड़ 70 लाख 21 हजार की स्वीकृति दी है।

अयोध्या में हर साल पंचकोसी और चौदह कोसी परिक्रमा के लिए पूरे देश और विदेश से लोग आते हैं। संत अयोध्या की चौरासी कोसी में परिक्रमा करते हैं। यह चौरासी कोसी परिक्रमा मार्ग पांच जिलों में 275.35 किलोमीटर तक फैला है, जिसमें अयोध्या, आंबेडकर नगर, बाराबंकी समेत गोंडा जिला भी आता है। देश-विदेश से अयोध्या आने वाले श्रद्धालुओं को किसी भी प्रकार की असुविधा न हो, अयोध्या में भ्रमण करते समय उनके समक्ष जाम की दिक्कतें न आए, इसके लिए इन रेलवे ओवर ब्रिज का निर्माण एक महत्वपूर्ण कड़ी साबित होगा।

बता दें कि अयोध्या के चौदह कोसी परिक्रमा मार्ग के अंदर रेलवे क्रासिंग पर छह रेलवे ओवर ब्रिज के निर्माण पर अपनी सहभागिता के लिए रेलवे ने मंजूरी प्रदान कर दी है। रेलवे ओवरब्रिज के निर्माण में 533 करोड़ 89 लाख 87 हजार का खर्च आएगा। जिसमें 160 करोड़ 84 लाख रेलवे तथा 273 करोड़ 5 लाख 87 हजार सेतु निगम उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा खर्च किया जाएगा।

Edited By: Umesh Tiwari