लखनऊ (जेएनएन)। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार लाने को बेहद गंभीर हैं। वह जिलों के दौरा पर अस्पताल की सारी व्यवस्था स्वयं देखते हैं। अब तो दवा सप्लाई करने वाली कंपनियों पर भी उनकी निगाह है।

मुख्यमंत्री ने सरकारी आपूर्ति करने वाली दवा कंपनियों की गड़बड़ी पर उन्हें काली सूची में दर्ज करने के भी निर्देश दिए हैं। इसके साथ ही कल उन्होंने बैठक में चिकित्सा व्यवस्ता में सुधार लाने और अस्पतालों में इलाज के दौरान लापरवाही न होने देने के निर्देश अधिकारियों को दिए हैैं। स्वास्थ्य विभाग के कामकाज की समीक्षा के दौरान कल मुख्यमंत्री ने विभिन्न योजनाओं की जानकारी ली और इंसेफ्लाइटिस से बचाव व उपचार के कार्यक्रमों में तेजी लाने के निर्देश दिए।

प्रमुख सचिव स्वास्थ्य प्रशांत त्रिवेदी व अन्य की मौजूदगी में मुख्यमंत्री ने प्रदेश के सभी स्वास्थ्य केंद्रों में सतर्कता बरतने की हिदायत दी। बैठक में अधिकारियों को लापरवाही पर सख्त कार्यवाही की चेतावनी भी दी गई। पूर्वांचल के 38 जिलों में चलाये जा रहे इंसेफ्लाइटिस उन्मूलन अभियान के तहत अब तक हुए काम की जानकारी लेने के साथ ही मुख्यमंत्री ने ग्रामीण क्षेत्रों में जागरूकता व बचाव के उपायों में तेजी लाने का निर्देश दिया। सीएम योगी आदित्यनाथ ने बैठक के दौरान बारिश को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग को नगर निगमों से तालमेल बनाकर जलभराव न होने देने और साफ-सफाई के इंतजाम कराने का भी निर्देश दिया। 

Posted By: Dharmendra Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस