लखनऊ (जेएनएन)। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूर्व मुख्यमंत्री और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव पर करारा प्रहार करते हुए कहा कि 'जो अपने बाप और चाचा का नहीं हुआ वह आपको क्या जोड़ेगा। इतिहास में एक पात्र आया जिसने अपने बाप को कैद किया और आज कोई भी मुस्लिम अपने बच्चे का नाम औरंगजेब नहीं रखता है। इतिहास अपने को दोहरा रहा है।
योगी आदित्यनाथ शुक्रवार को पीडब्लूडी के विश्वेश्वरैया सभागार में भाजपा पिछड़ा वर्ग मोर्चा द्वारा आयोजित सामाजिक प्रतिनिधि सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। इस सम्मेलन में प्रदेश भर से निषाद, बिंद, केवट, माझी, मल्लाह और कश्यप आमंत्रित किए गए थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि 'रामभक्ति आपकी डीएनए में है। आपको रामभक्ति का प्रमाण किसी रावण और कंस वंश से लेने की आवश्यकता नहीं है।

योगी ने आरक्षण में अनुसूचित जाति की सुविधा दिए जाने की निषादों की प्रमुख मांग का जिक्र करते हुए कहा कि 'इस समाज को यह अधिकार मिलना चाहिए था। सपा सरकार ने अपने लोगों से रिट करवाकर जानबूझकर इसे कोर्ट में लटकाया लेकिन, हम आपकी लड़ाई लड़ रहे हैं। हम चाहते हैं कि इस समाज को उसका हक मिले। उन्होंने श्रृंगबेरपुर धाम के विकास के लिए राज्य सरकार द्वारा 34 करोड़ रुपये आवंटित किए जाने का जिक्र करते हुए कहा कि प्रदेश में चौतरफा विकास के लिए हम लगातार काम कर रहे हैं।

राम और निषादराज की गले मिलते लगेगी भव्य प्रतिमा : केशव मौर्य
उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने निषाद समाज की सभी जायज मांगों को पूरा करने का भरोसा देते हुए कहा कि श्रृंगवेरपुरम में भगवान राम और निषाद राज की गले मिलते हुए भव्य प्रतिमा लगाई जाएगी। केशव ने कहा कि श्रृंगवेरपुरम हमारे लिए तीर्थ स्थल है। उन्होंने कहा कि पिछड़ों के सम्मेलन की वजह से कांग्रेस, सपा और बसपा में बेचैनी है। मौर्य ने निषादों से अपने बच्चों को साक्षर बनाने और उनकी पढ़ाई पर जोर देते हुए कहा कि समाज के बच्चों को पढ़ाएं। इन्हें गोताखोर नहीं बल्कि गोताखोर की भर्ती करने वाला बनाएं। शिक्षा पर सर्वाधिक ध्यान देने का आह्वान करते हुए केशव ने 2019 में मोदी को फिर पीएम बनाने का आह्वान किया।


उन्होंने कहा कि उप्र की राजनीति में सपा, बसपा और कांग्रेस का कोई वजूद नहीं है। उन्होंने दावा किया कि उप्र में किसी पर भी एससी-एसटी एक्ट का फर्जी मुकदमा नहीं लगने देंगे लेकिन, किसी एससी-एसटी का उत्पीडऩ भी उनकी सरकार बर्दाश्त नहीं करेगी। सम्मेलन को भाजपा पिछड़ा वर्ग मोर्चा के अध्यक्ष और प्रदेश के वन मंत्री दारा सिंह चौहान, पिछड़ा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद राजेश वर्मा, राज्य मंत्री जयप्रकाश निषाद, सांसद धर्मेंद्र कश्यप, अध्यक्ष पिछड़ा वर्ग विकास निगम बाबूराम निषाद, अध्यक्ष समाज कल्याण निर्माण निगम बीएल वर्मा, पूर्व सांसद नरेंद्र कश्यप, सीताराम कश्यप समेत कई प्रमुख लोगों ने संबोधित किया।

भाजपा राज में पुलिस का इकबाल खत्म : अखिलेश

इलाहाबाद में चार लोगों की हत्या की घटना को लेकर समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कानून व्यवस्था के मुद्दे पर भाजपा सरकार को फिर घेरा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में लूट और हत्याएं आम बात हो गई हैं। राज्य में पुलिस का इकबाल खत्म हो गया है।
पूर्व मुख्यमंत्री ने शुक्रवार को कहा कि प्रदेश में जनवरी से 31 अगस्त तक के आठ महीनों में मेरठ क्षेत्र में ही 498 हत्याएं हो गई। अगस्त तक दुराचार की 414 घटनाएं घटी। कुल 39,000 अपराधिक मामले दर्ज हुए है। सच तो यह है कि भाजपा के 17 महीने के शासनकाल में समाज का कोई भी वर्ग सुरक्षित नहीं है। जनता भय और दहशत के माहौल में है। भाजपा ने 'बेटी बचाओ, बेटी बढ़ाओ का नारा तो दिया पर हकीकत में बेटियां अब स्कूल-कालेज जाने से डरती हैं क्योंकि शोहदों ने उनकी जिंदगी तबाह कर दी है।


अखिलेश ने कहा कि भाजपा सरकार बनने पर मुख्यमंत्री ने एक बड़ा एलान किया था कि अब अपराधी या तो जेल में होंगे या प्रदेश छोड़कर चले जाएंगे। डेढ़ वर्ष होने को हैं, अपराधी न तो बाहर गए न जेल में। वे सक्रिय रूप से प्रदेश में आपराधिक गतिविधियों में लिप्त हैं। वे पुलिस पर भी हमलावर हैं। शासन-प्रशासन पंगु हो गया है। कानून-व्यवस्था नाम की कोई चीज नहीं रह गई है। जबसे भाजपा सत्ता में आई है, अपराधों की बाढ़ आ गई है।

Posted By: Dharmendra Pandey