लखनऊ (जेएनएन)। उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार आज अपना पहला पूर्ण बजट पेश करेगी। इससे पहले बीते वर्ष सत्ता संभालने के बाद सरकार ने जुलाई में बजट पेश किया था। उत्तर प्रदेश के इतिहास में पहली बार ऐसा हो रहा है कि बजट पेश होने के ठीक पहले कैबिनेट मीटिंग बुलाई गई है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में कैबिनेट बैठक लोक भवन में होगी। सरकार बजट में हर पहलू को ध्यान में रखे है। कैबिनेट बैठक करने के पीछे सरकार की मंशा गहन विचार-विमर्श की है। बजट के आखिरी क्षण भी अगर किसी संशोधन की जरुरत पड़े तो उसे किया जा सके।

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार आज अपना दूसरा बजट पेश करेगी। यह अब तक का सबसे बड़ा बजट हो सकता है। वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल ने पिछला बजट 3.84 लाख करोड़ रुपए का पेश किया था। वित्त वर्ष 2018-19 के लिए योगी सरकार करीब सवा चार लाख करोड़ रुपये का बजट पेश कर सकती है।

उत्तर प्रदेश सरकार पर 2019 में लोकसभा चुनाव के मद्देनजर खासा दबाव भी है। माना जा रहा है कि अपने दूसरे बजट में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ किसान और युवाओं को लुभाने की कोशिश करेंगे। इससे पहले कल वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल ने कल गुरुवार को अपने बजट भाषण को अंतिम रूप दिया। उनके साथ वित्त विभाग के सभी आला अधिकारी डटे थे।  

Posted By: Dharmendra Pandey