अयोध्या, जेएनएन। उत्तर प्रदेश में 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव में रामनगरी अयोध्या से प्रत्याशी होने की अटकलों के बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गोरखपुर से रविवार को अयोध्या पहुंचे। यहां पर उन्होंने राजर्षि दशरथ मेडिकल कॉलेज का निरीक्षण करने के साथ विकास कार्य का जायजा लिया। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उत्तर प्रदेश जल्द ही देश में सर्वाधिक मेडिकल कालेज वाला राज्य होगा।

अयोध्या में दर्शननगर स्थित मेडिकल कालेज का निरीक्षण करने पहुंचे सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि चार वर्ष में 32 नए चिकित्सा महाविद्यालयों का निर्माण या तो हो रहा है या फिर हो चुका है, जबकि वर्ष 2016 तक प्रदेश में मात्र 12 मेडिकल कालेज ही थे। इस सत्र में नौ नए मेडिकल कॉलेज के अप्रूवल के लिए आवेदन किया गया है। इन्हें आरंभ करने के लिए औपचारिकताओं को करीब-करीब पूरा किया जा चुका है।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 16 जिलों में मेडिकल कालेज नहीं हैं। इन जिलों में पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप के आधार पर चिकित्सा महाविद्यालय खोला जाएगा। उन्होंने रामलला व बजरंगबली का दर्शन-पूजन किया। साथ ही मणिरामदास जी की छावनी जाकर श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्यगोपाल दास का हालचाल जाना। उन्होंने सुग्रीव किला जाकर पीठाधीश्वर जगद्गुरु विश्वेश प्रपन्नाचार्य से मुलाकात की। अयोध्या में करीब पांच घंटे के प्रवास में उन्होंने सुरक्षा में लगी फ्लीट को भी छोड़ दिया और सुग्रीव किला पहुंचकर महंत जगतगुरू विश्वेश प्रपन्नाचार्य से भेंट भी की।

अयोध्या पहुंचे सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उत्तर प्रदेश के जिन 16 जिलों में मेडिकल कॉलेज नहीं है। उन जिलों में भी मेडिकल कॉलेज बनाए जाएंगे इसकी औपचारिकता पूरी हो रही है। हम इसके मेडिकल काउंसिल में आवेदन कर रहे हैं। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 1947 से 2016 तक 69 वर्षों में केवल 12 मेडिकल कॉलेज बने थे। पिछले चार वर्ष के दौरान उत्तर प्रदेश में 32 नए मेडिकल कॉलेज बना चुके हैं या बना रहे हैं। उन्होंने कहा कि देश मे उत्तर प्रदेश में सर्वाधिक मेडिकल कॉलेज होगा। अयोध्या को लेकर सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आने वाले समय में अयोध्या के जनप्रतिनिधियों के अनुरूप स्वास्थ्य सेवाएं मिलेंगी। कोरोना काल में हुई मौत को लेकर सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि बहुत लोगों ने अपने परिजनों को खोया है।

मेडिकल कालेज में आयोजित पत्रकार वार्ता में उन्होंने कहा कि गत वर्ष जब प्रदेश में कोरोना का पहला मरीज मिला था, तब न तो प्रदेश में कोरोना की जांच की व्यवस्था थी और न ही कोविड हास्पिटल थे। टेस्ट के लिए नमूनों को पुणे भेजना पड़ता था। पहले मरीज को इलाज के लिए दिल्ली भेजना पड़ा था। अब तीन लाख टेस्ट रोजाना करने की क्षमता है और दो लाख बेड हैं। दर्शननगर स्थित मेडिकल कालेज में ही तीन हजार आरटीपीसीआर जांच रोजाना हो सकती है। आने वाले समय में अयोध्या विश्व मानचित्र पर विशिष्ट स्थान बनाएगी। ऐसे में यहां पर्यटन के साथ-साथ स्वास्थ्य, शिक्षा व पेयजल आदि की भी बेहतर व्यवस्था की जा रही है, जिससे यहां पर्यटक आएं तो उन्हें किसी किस्म की समस्या नहीं हो।

छात्रों और मरीजों से की बात : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मेडिकल कालेज में चार मरीजों से बातचीत की। सीएम ने उनका नाम व पता पूछने के साथ ही यह भी जाना कि चिकित्सक नियमित रूप से देखने आते हैं या नहीं। दवाएं मिलती हैं या नहीं। वहीं गंजा स्थित चिकित्सा महाविद्यालय के शैक्षणिक परिसर में उन्होंने एमबीबीएस के विद्यार्थियों से बातचीत की।

अचानक छोड़ी सुरक्षा में लगी प्लीट की गाड़ियां : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अयोध्या में अचानक राम जन्मभूमि से निकलकर सुग्रीव किला के लिए रवाना हो गए। उन्होंने फ्लीट की गाड़ियों को मेन रोड पर छोड़कर सुग्रीव किला पहुंचे। महज सुरक्षा के जरूरी फ्लीट के साथ ही सुग्रीव किला पहुंचकर महंत जगतगुरु विश्वेश प्रपन्नाचार्य से मुलाकात करने पहुंच गए। सुग्रीव किला के पीठाधीश्वर से मुलाकात के बाद मुख्यमंत्री मणिराम दास छावनी गए। मणिराम दास छावनी पर श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास का हाल-चाल लिया। महंत नृत्य गोपाल दास से मुलाकात के बाद लखनऊ के लिए रवाना हो गए।

Edited By: Dharmendra Pandey