लखनऊ, जेएनएन। मुख्‍यमंंत्री को बम से उड़ाने की धमकी देने के आरोपित कामरान अमीन को छोड़ने के लिए अब उसके साथी ने डायल 112 के सोशल मीडिया डेस्‍क के वाटस एप नंबर पर धमकी दे डाली। मामले की पड़ताल के दौरान एसटीएफ ने महाराष्‍ट्र के बंगला नं0 16, जीनत मंजिल, दारूलस्लाम कालोनी मदीना चाैैक, ना‍सिक निवासी सैय्यद मोहम्मद फैसल को दबोच लिया। फैसल मूलरूप से सैय्यद हाउस तुरकहिया, शिवनगर बस्ती का रहने वाला है।

प्रभारी एसटीएफ व एएसपी विशाल विक्रम सिंह के मुताबिक डायल 112 के सोशल मीडिया डेस्क के व्हाट्सएप पर 21 मई को मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ को बम से उड़ाने की धमकी दी गई थी। इस मामले में गोमतीनगर थाने में एफआइआर दर्ज की गई थी। इसके बाद एसटीएफ ने मुंबई एटीएस के सहयोग से कामरान अमीन को गिरफ्तार किया था। रविवार को आरोपित को मुंबई के न्यायालय में पेश कर 27 मई तक का ट्रांजिट रिमांड पर लेकर एसटीएफ लखनऊ के लिए रवाना हुुुुई थी।

इसी बीच रविवार को ही दोबारा धमकी भरा मैसेज मिला। आरोपित ने वाटस एप नंबर पर धमकी देने के साथ ही गोमतीनगर इंस्‍पेक्‍टर के सीयूजी नंबर पर भी फोन कर कामरान को न छोडने पर अन्जाम भुगतने की धमकी दी थी। मामले की गंभीरता को देखते हुए महाराष्‍ट्र के एटीएस से सहयोग मांगा गया। इसके बाद जिस नंबर से धमकी भरा मैसेज भेजा गया था, उसका उपयोग करने वाले सैय्यद मोहम्मद फैसल को दबोच लिया गया। आरोपित के पास से मोाबइल फोन और सिम कार्ड बरामद किया गया है।

आरोपित ने अपने फोन से धमकी दिए जाने वाला मैसेज डिलीट कर दिया था। पूछताछ में आरोपित सैय्यद मोहम्मद फैसल ने बताया कि वह बी-काम कर रहा है। आरोपित के पिता अम्बिका प्रताप नारायण राजकीय लाॅॅ कालेज बस्ती में लेक्चरर हैं। आरोपित अपने मामू के यहाॅ नासिक में रह कर पढाई कर रहा था और देवबंद वहाबी को मानने वाला है। यही नहींं वह मदनी सेंंटर मस्जिद व दारूल इस्लाम मस्जिद बजरंग नगर, अम्बाड, नासिक जाता रहता है जिसके ट्रस्टी उसके मामू हैं। एसटीएफ ने आरोपित को ट्रांजिट रिमांड पर लेकर लखनऊ ला रही है।

 

Posted By: Anurag Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस