लखनऊ (जेएनएन)। केंद्र सरकार के नोटबंदी के तरीके से उत्तर प्रदेश की जनता को हो रही परेशानियां और बढ़ रही अराजकता की स्थित पर मुख्यमंत्री अखिलेश यादव आज बरस पड़े और कहा 'इस सरकार ने बिना तैयारी फैसला लेकर लोगों को अभी पैसों में फंसाया है। कल बात बिगड़ी तो हो सकता है ये देश को मुश्किल में फंसा दें'।

लखनऊ लोकभवन में पत्रकारों से मुखातिब मुख्यमंत्री ने कहा कि नोट संकट दैवीय नहीं केंद्र सरकार का खड़ा किया है। पांच सौ व हजार के नोट अमान्य होने के चलते पैदा हुई करेंसी किल्लत से हर वर्ग परेशान हैं। किसान, मजदूर और गृहणियों को सबसे ज्यादा किल्लत है। करेंसी एक्सचेंज की प्रक्रिया पूरी होने में छह माह से एक साल लगेगा, इससे किसान बर्बाद हो जाएगा। विकास में देश पिछड़ जाएगा। कारखाने बंद होंगे। श्रमिकों को पैसा मिलना मुश्किल होगा। बुआई का समय है, खाद-बीज के लिए किसान परेशान है, उसकी मदद के लिए राह नहीं निकाली जा रही। यादव ने तंज किया कि सबसे ज्यादा बुद्धिजीवी और विद्वान भाजपा में हैं जिन्होंने देश के लिए परेशानी खड़ी रखी है। देश बैंकों की लाइन में है। जनता भी कह रही है कि केंद्र सरकार ने तैयारी के बिना फैसला लेकर देश को पैसों में फंसा दिया है। संभव: है कि अधूरी तैयारियों के चलते कल देश को संकट में फंसा दें।

तस्वीरों में देखें- प्रमुख सचिव नवनीत सहगल दुर्घटना में घायल

नए नोट से भ्रष्टाचार शुरू

मुख्यमंत्री ने कहा कि बात भ्रष्टाचार रोकने की थी, अब तो यह सूचना आने लगी है कि नए नोटों से भी भ्रष्टाचार शुरू हो गया है। अभी पूरी सूचनाएं नहीं आ रही हैं, जब आएंगी तो बहुत कुछ साफ होगा। कहा कि हमने अधिकारियों से कहा कि बैंकों में कितनी करेंसी आई है और सूबे को कितनी की जरूरत है? मगर वित्त, बैंक के अधिकारी यह ब्यौरा नहीं दे सके। मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार हमे नहीं बता रही है न सही मगर लोकसभा व राज्यसभा को तो सच्चाई बताए।

यूपी के प्रमुख सचिव सूचना नवनीत सहगल सड़क दुर्घटना में घायल

परिवार का एक निशान साइकिल

समाजवादी परिवार में चल रहे संग्राम और रामगोपाल की वापसी के बाद शिवपाल की सरकार में वापसी के सवाल पर अखिलेश ने कहा कि ये हमारी टीम, वो उनकी टीम आप लोगों की परिभाषा हो सकती है। रही बात परिवार जो बात घर की है, उस पर बाहर चर्चा क्यों करूंगा। आप सबने घर के अंदर दीवार उठा दी थी, जबकि दीवार नहीं है। कहा कि समाजवादियों की एक टीम है वह 'साइकिलÓ टीम है। समाजवादियों की सरकार बनने जा रही है। हमारे बीच कोई विवाद नहीं है। ये देश आगे बढ़ेगा, तभी हम-आप आगे बढ़ेंगे। ये जो प्रदेश में घूम रहे हैं, इन्हें कोई यूपी में कोई काम नहीं करना है।

बसपा पर निशाना

अखिलेश ने बसपा सुप्रीमो मायावती पर तंज कसते हुए कहा कि आजकल रोज मीडियाकर्मियों से मिल रही हैं। मुझे खुशी इस बात की है कि बसपा मुखिया को लगने लगा है कि एक बार फिर सपा की सरकार बनने वाली है। पत्थर वाली सरकार के पास बताने योग्य कोई काम नहीं है।

भाजपा विकास पर बात नहीं करती

मुख्यमंत्री ने कहा, भाजपा विकास पर चर्चा नहीं कर सकती क्योंकि ढाई साल में कुछ नहीं किया। जिस इटावा, आजमगढ़ में भाजपा के नेता उतरे वहां हवाई पट्टी समाजवादियों ने बनाई। जिस सड़क पर चले वह भी हमने बनाई। अब हमने 24 घंटे बिजली कर दी। बीजेपी वाले दिन के घंटे बढ़ा देंगे, 26 घंटे कर देंगे? भाजपा के पास मुद्दा नहीं है। भाजपा की रथ यात्रा पर निशाना साधते हुए कहा कि लोग रथ निकाल रहे मगर लोग साथ नहीं आ रहे। हमारा भी रथ चलेगा तब देखना कितने लोग आते हैं।

एक्सप्रेस वे पर 100 से तेज न चलें

आगरा एक्सप्रेस वे को लेकर अखिलेश ने कहा कि यह प्रदेश की सड़क है, देश की सड़क है। हमारा देश भी और देशों के मुकाबले खड़ा हो यही हमारा प्रयास है। इस पर फाइटर प्लेन इसलिए उतारे जा रहे हैं कि कभी इमरजेंसी में सेना को जरूरत पड़े तो वे इस्तेमाल कर सकें। इस पर कितनी स्पीड से चला सकतें हैं इसका भी नजारा देखने को मिलेगा। मगर आप लोग इस हाईवे पर 100 की रफ्तार से अधिक मत चलें। गौरतलब है कि इस सड़क का उद्घाटन 21 नवंबर को होना है। सूत्रों का कहना है कि सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव ने इस सड़क के उद्घाटन समारोह में मौजूद रहने की सहमति प्रदान कर दी है। 22 को मुलायम का जन्मदिन है।

यह भी पढ़ें-

Note ban: जिला सहकारी बैंकों में 500-1000 के नोट जमा करने पर रोक

यूपी में मोदी का विरोधः नोट के बहाने वोट अपने पाले में करने की कोशिश

Note ban: यूपी में हालात भयावह, बिगड़ रही कानून व्यवस्था : अखिलेश

Note ban: नोट पाबंदी फरमान से पूरे देश में बदअमनी के हालात : आजम

सरकारी बिलों के भुगतान में टूटा रिकार्ड, 500 फीसद तक इजाफा

Posted By: Nawal Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस