Power Cuts In UP: लखनऊ, जेएनएन। आजादी के अमृत महोत्सव (azadi ka amrit mahotsav) के मौके पर 15 अगस्त को 24 घंटे निर्बाध बिजली आपूर्ति (uninterruptible power supply) का निर्देश शासन ने दिया था, लेकिन उत्तर प्रदेश पावर कारपोरेशन (UP Power Corporation) इसे जमीन पर न उतार पाया। प्रदेश भर में बिजली की आंखमिचौनी से उपभोक्ता परेशान हुए। जागरण टीम की यह रिपोर्ट बताती है कि तमाम दावे हवा-हवाई साबित हुए और स्वतंत्रता दिवस के मौके पर भी बिजली कटौती ने प्रदेशवासियों को खूब छकाया।

वाराणसी में शहर से लेकर गांव तक लोग बिजली संकट से सात से नौ घंटे तक जूझे। ज्यादातर इलाकों में लोग लाल किले से प्रसारण व पीएम का संबोधन भी नहीं सुन सके। सारनाथ में 14 की रात 11 बजे बिजली गई तो 15 को दोपहर तीन बजे आई। कपसेठी व मिर्जामुराद के लालपुर फीडर से नौ घंटे बिजली गुल रही।

इसके अलावा चोलापुर में धौरहरा फीडर से सात, चोलापुर फीडर से दस, चौबेपुर के गरथौली फीडर से आठ, करसड़ी सब स्टेशन से छह घंटे बिजली बंद रही। मऊ में शहरी व ग्रामीण क्षेत्र में सुबह से शाम तक बिजली नहीं आई। बलिया में सुबह बिजली कटी तो शाम पांच बजे तक गुल रही।

गाजीपुर के जमानियां स्टेशन बाजार फीडर की बिजली 24 घंटे नहीं रही। दुल्लहपुर क्षेत्र में शाम तक बिजली एक घंटे ही रही। मुहम्मदाबाद में सुबह चार बजे से शाम पांच बजे तक तो जखनियां फीडर से जुड़े क्षेत्र में दिन भर बिजली नहीं आई। सकलडीहा फीडर से जुड़े क्षेत्रों में भी पूरे दिन बिजली नहीं आई।

भदोही में दिन में 11 बजे बिजली कटी तो शाम छह बजे आई। जौनपुर नगर में 15 घंटे बिजली मिली, वहीं शाहगंज तहसील क्षेत्र में दो से चार घंटे बिजली रही। मीरजापुर में शहर में दो से तीन घंटे व ग्रामीण इलाकों में साढ़े चार घंटे तक बिजली कटौती हुई।

आगरा शहरी क्षेत्र में 20 और देहात क्षेत्र में 14 घंटे बिजली की आपूर्ति मिली। मथुरा में शाम को 30 मिनट तक लगातार आपूर्ति बाधित रही। वृंदावन में शाम को डेढ़ घंटे की कटौती रही। मैनपुरी के कुसमरा फीडर पर शाम सात से नौ बजे तक आपूर्ति बाधित रही।

फिरोजाबाद शहर में दो घंटे और देहात क्षेत्र में पांच घंटे की कटौती रही। अलीगढ़ शहरी क्षेत्र में दो से तीन घंटे की कटौती रही। बरेली की फरीदपुर तहसील क्षेत्र में औसतन 18 घंटे, नवाबगंज, आंवला व मीरगंज में 19 और बहेड़ी में औसतन 21 घंटे आपूर्ति मिली। शाहजहांपुर नगर में करीब 21 घंटे, तो ग्रामीण क्षेत्र में 18 घंटे आपूर्ति हुई। बदायूं व पीलीभीत के शहरी क्षेत्र में करीब 20 तो ग्रामीण में लगभग 18 घंटे आपूर्ति हुई।

गोरखपुर के रुस्तमपुर में तार टूटने से नहर रोड क्षेत्र में घंटों बिजली गुल रही। राप्तीनगर से जुड़े गंगानगर में तार पर पेड़ गिरने से तीन घंटे बिजली गुल रही। ग्रामीण क्षेत्र में धुरियापार उपकेंद्र को जाने वाली 33 हजार केवी की लाइन में खराबी के कारण इलाके में रोस्टर पर बिजली दी गई।

बड़हलगंज, कौड़ीराम, चौरी चौरा, पीपीगंज के इलाके में भी बिजली कटौती से लोग परेशान रहे। प्रयागराज में भी पूरे दिन लोकल फाल्ट के कारण बिजली की आंखमिचौनी जारी रही। बरेली महानगर के प्रेमनगर, किला क्षेत्र में 11 केवी लाइन में फाल्‍ट होने से रात 11 से दो बजे तक आपूर्ति बंद रही।

Edited By: Umesh Tiwari