लखनऊ, जागरण संवाददाता। उप्र हिंदी संस्थान के सम्मान और पुरस्कार 28 नवंबर को दिए जाएंगे। पिछले वर्ष आयोजन नहीं हो पाया था, वहीं इस बार मुख्यमंत्री ने समारोह में शामिल होने की सहमति दे दी है। यशपाल सभागार में दोपहर तीन बजे से होने वाले आयोजन में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मुख्य अतिथि होंगे। समारोह की अध्यक्षता विधान सभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित करेंगे। समारोह में वरिष्ठ साहित्यकार पांडेय शशिभूषण शीतांशु को भारत भारती सम्मान से अलंकृत किया जाएगा।

लोहिया साहित्य सम्मान डा रामकठिन सिंह, पंडित दीनदयाल उपाध्याय साहित्य सम्मान डा देवेंद्र दीपक, महात्मा गांधी साहित्य सम्मान डा महेंद्र मधुकर और अवंतीबाई साहित्य सम्मान से डा सीतेश आलोक को सम्मानित किया जाएगा। समारोह में राजर्षि पुरुषोत्तम टंडन सम्मान अहमदाबाद की गुजरात प्रांतीय राष्ट्रभाषा प्रचार समिति को दिया जाएगा। इसके अलावा साहित्य भूषण सम्मान बीएल गौड़, धीरेंद्र वर्मा, डा सुधाकर मिश्र, डा तपेश्वरनाथ, दयानंद जड़िया, डा चंद्रपाल शर्मा, डा ओम प्रकाश शुक्ल, डा शशि गोयल, रामकरन मिश्र, डा मंजु शुक्ल, केशव प्रसाद वाजपेयी, डा सुशील कुमार पांडेय, डा हरिमोहन, डा त्रिभुवननाथ शुक्ल, सुधीर विद्यार्थी, शिवाकांत मिश्र, हरीलाल मिलन, सतीश आर्य, डा अरविंद कुमार राम और मो. मूसा खान को दिया जाएगा।

लोक भूषण सम्मान डा जयप्रकाश मिश्र, कला भूषण सम्मान सुशील कुमार सिंह, विद्या भूषण सम्मान गिरिश्वर मिश्र, विज्ञान भूषण सम्मान डा दुर्गादत्त ओझा, पत्रकारिता भूषण सम्मान राम बहादुर राय, प्रवासी भारती हिंदी भूषण सम्मान रेखा राजवंशी, बाल साहित्य भारती सम्मान डा राकेश च्रक, घमंडी लाल अग्रवाल, मधुलिमये साहित्य डा दिलीप सिंह, पंडित श्री नारायण चतुर्वेदी साहित्य सम्मान सुभाष चंदर, विधि भूषण सम्मान संतोष खन्ना को सम्मानित किया जाएगा। सौहार्द सम्मान में असमिया के लिए रुनू शर्मा बरुवा, उड़िसा के लिए डा लक्ष्मीधर दाश, उर्दू के लिए अनीस अंसारी, कन्नड़ के लिए धरणेंद्र कुरकुरी, कश्मीरी के लिए महाराज कृष्ण संतोषी, गुजराती के लिए डा जशभाई नारणभाई पटेल, डोगरी के लिए डा भारत भूषण शर्मा, तमिल के लिए डा पीआर वासुदेवन और तेलगू के लिए डा सुमन लता रुद्रावझला को दिया जाएगा।

Edited By: Vikas Mishra