लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश के विभिन्न जिलों में पिछले कुछ दिनों से सामने आ रहीं महिला उत्पीड़न और लव जिहाद की घटनाओं पर योगी सरकार ने सख्त रुख अपनाया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ऐसी घटनाएं रोकने के लिए अधिकारियों से कार्ययोजना तैयार करने को कहा है। सीएम योगी ने लखीमपुर खीरी में हुई ऐसी ही एक घटना पर सख्त रुख अपनाते हुए अपराधियों पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (एनएसए) लगाने के निर्देश दिए हैं। योगी ने कहा कि राज्य सरकार ऐसे मालों की फास्ट ट्रैक अदालत में सुनवाई कराकर अपराधियों को जल्द से जल्द सजा दिलवाएगी।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के इस रुख को देखते हुए माना जा रहा है कि सरकार ऐसी घटनाओं पर कड़े कदम उठाने के मूड में है। प्रदेश में हाल ही में मेरठ, कानपुर, लखीमपुर खीरी और बलरामपुर सहित अन्य जिलों में लव जिहाद की कुछ घटनाएं सामने आई हैं। मेरठ और कानपुर में इन मामलों ने स्थानीय स्तर पर भी तूल पकड़ा है। अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने महिला उत्पीड़न व लव जिहाद के मामलों में त्वरित व सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।

मेरठ, कानपुर व लखीमपुर खीरी में पिछले दिनों लड़कियों को प्रेमजाल में फंसाकर धोखाधड़ी की गई थी। मेरठ और लखीमपुर में तो लड़कियों की हत्या भी कर दी गई। इसी तरह कानपुर में दूसरे धर्म में विवाह का मामला सामने आया था। यहां के पांच परिवारों की ओर से प्रेम प्रसंग के मामलों में लव जिहाद का आरोप लगाया गया। इन परिवार के सदस्यों ने कानपुर के आइजी से शिकायत की थी कि उनकी बेटी की जिस क्षेत्र के युवक से शादी हुई, वहां के लड़के लगातार लव जिहाद कर लड़कियों को फंसाते हैं।

एडीजी कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार ने कहा कि पुलिस महिला संबंधी अपराध के मामलों में पूरी तरह संवेदनशीलता से कार्य कर रही है। ऐसी शिकायतों की गहनता के साथ जांच करने और आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस