लखनऊ, जेएनएन। नागरिकता संशोधन कानून (CAA) विरोध की आड़ में माहौल बिगाड़ने वालों को सख्त लहजे में चेताते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोई मुगालते में न रहे, कयामत के दिन नहीं आने वाले हैं। आगजनी और तोड़फोड़ कर कानून को बंधक बनाने वाले अब मनमानी नहीं कर पाएंगे। बुधवार को विधानसभा में बजट चर्चा के दौरान उन्होंने विपक्ष के रवैये को गैरजिम्मेदाराना बताते हुए कहा कि देश की छवि खराब करने वालों को आने वाली पीढ़ियां कभी माफ नहीं करेंगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सीएए नागरिकता देने वाला कानून है। इसे कांग्रेस ने बनाया था। इसमें केवल एक संशोधन किया गया है। नागरिकता देने की समय सीमा 11 वर्ष से घटाकर पांच वर्ष की गई है। वो कानून बनाएं तो कोई बात नहीं, हम संशोधन करे तो बवाल किया जा रहा है। यह समाज की अपूर्णीय क्षति और संविधान के साथ धोखा है। 

दिल्ली में जारी हिंसा से अधिक सतर्क दिखे योगी ने अपने दो घंटा दस मिनट के संबोधन में कानून व्यवस्था बनाए रखने व उपद्रवियों पर कठोर कार्रवाई किए जाने की प्रतिबद्धता को दोहराया। उन्होंने कहा कि सार्वजनिक संपत्ति को क्षति पहुंचाने वालों से वसूली भी होगी। प्रदेश की 23 करोड़ जनता की सुरक्षा से किसी को खिलवाड़ न करने देंगे। 

कांवड़ियों के कपड़ों के रंग से चिढ़

मुख्यमंत्री ने कांवड़ यात्रा और कुंभ मेला जैसे आयोजनों के सकुशल निपटने की जानकारी दी। सपा की ओर इशारा करते हुए कहा कि इनके समय में कांवड़ यात्रा पर तमाम प्रतिबंध लगते थे, डीजे भी नहीं बजने देते थे।

इस पर सपा उपनेता इकबाल महमूद ने सफाई देते हुए डीजे पर सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर पाबंदी लगाने की बात कही। इस पर मुख्यमंत्री ने कहा कि ऐसा नहीं था। हिंदू आस्था से खिलवाड़ किया जाता था और चिढ़ाया जाता था। कांवड़ियों के कपड़ों के रंग से भी चिढ़ थी। अब मजहब के आधार पर काम करने का आरोप कोई नहीं लगा सकता।

रामपुर में बिजली चमक रही है, वायरस नहीं पनप पाएंगे

सबका साथ सबका का विकास, का उदाहरण देते हुए कहा कि रामपुर में पहले की तरह बिजली आपूर्ति जारी है। साथ ही आजम खां का नाम लिए बिना चुटकी ली कि इन दिनों रामपुर में बिजली कड़क रही है। कहते है कि बिजली के कड़कने से वायरस नहीं पनप पाते है। वहां सफाई भी कराई जा रही है। सरकार की सकारात्मक सोच है। 

जेवर में अब भट्ठा पारसौल जैसी घटना नहीं

मुख्यमंत्री ने जेवर में अंतरराष्ट्रीय स्तर का हवाई अड्डा बनाने की जानकारी देते हुए कहा कि अब जेवर में भट्ठा पारसौल जैसी घटना नहीं होंगी। पहली बार स्वदेशी विमान के जरिए आमजन को हवाई यात्रा की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। 

इंसेफ्लाइटिस से मौतों में 81 फीसद तक कमी

मुख्यमंत्री ने इंसेफ्लाइटिस से गत 40 वर्षों से हो रहीं बच्चों की मौतों को लेकर विपक्ष को घेरा। कहा कि इस बीमारी से मरने वाले बच्चों में 90 प्रतिशत दलित व अल्पसंख्यक समुदाय से थे परंतु कोई नहीं बोलता नहीं था। जब सांसद था तब भी मैं बोलता था और आज मुख्यमंत्री हूं तो भी। हमारी सरकार इंसेफ्लाइटिस के प्रकोप को 56 फीसदी तक कम करने में सफल रही है।

नौकरी ने नाम पर वसूली को झोला लेकर निकलते थे

योगी ने कहा कि युवाओं को पिछली सरकारों ने सुविधाओं और अवसरों से वंचित रखा। नौकरी दिलाने के नाम पर लोग वसूली के लिए झोला लेकर निकलते थे। अब पुलिस में एक लाख 37 हजार भर्तियां की हैं परंतु कोई अंगुली नहीं उठा सकता। जो बजट पेश हुआ है वह विकास को गति और युवा को ऊर्जा देने वाला है।

उत्तर प्रदेश की छवि साफ हुई

योगी ने कहा कि हमने किसानों की आय दोगुना करने की दिशा में तेजी कदम बढ़ाए है। ग्रामीण अर्थव्यवस्था बढ़ाने की दिशा में भी ठोस काम हुआ है। पहली बार किसानों ने खुद मुख्यमंत्री आवास पर आकर अपनी जमीन दी, हमने मुआवजा भी दिया। पहले यह नहीं होता था। 

मार-काट करेंगे तो आरती नहीं उतारेंगे

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 12-15 लोग तलवार लेकर आएंगे, मार-काट करेंगे तो उनकी आरती नहीं उतारी जाएगी। नोट कर लें, आगजनी और तोड़फोड़ करके कानून हाथ में लेने की इजाजत किसी को नहीं दी जाएगी।

अब कसाई खाने में नहीं जाएगा गोवंश

योगी गोवंश संरक्षण को लेकर भी मुखर थे। उन्होंने कहा कि सरकार ने निराश्रित गोवंश की नीति बनाई है। गोआश्रय स्थलों में 4.50 लाख गोवंशों को रखा गया है। यहां पराली भेजने में मनरेगा का उपयोग कर सकते हैं। नस्ल सुधार का कार्यक्रम तेजी से चल रहा है। पिछली सरकारों में गोतस्करी होती थी उन्हें कटवाया जाता था। अब न गो तस्करी होगी और न ही कसाईखाने में जाएंगी। 

राम को पूर्वज मानते है इंडोनेशिया के मुस्लिम

मुख्यमंत्री ने कहा कि सबसे बड़ा मुस्लिम देश इंडोनेशिया है। अयोध्या में रामलीला मंचन करने के बाद इंडोनेशिया के मुस्लिम कलाकार मिलने आए थे। उनका कहना था कि राम हमारे पूर्वज हैं। हमने उपासना की विधि बदली है पूर्वज नहीं। योगी ने कहा कि कुछ लोग यहां की रोटी खाएं और राम से दुराव करें, यह ठीक नहीं है। उनको राम के नाम पर करंट लगता है। हमने अयोध्या में मस्जिद के लिए 5 एकड़ जमीन दी है। उन्होंने बताया कि केरल में पहली मस्जिद हिंदू राजा ने बनवाई थी।

उन्होंने रामचरित मानस की चौपाई 'जहां सुमति तहां संपति नाना, जहां कुमति तहां विपति विधाना' सुनाते हुए कहा कि गत सरकार में इसलिए विपत्ति थी क्योंकि वहां सकारात्मकता न थी, संकीर्णता और स्वार्थ था। जहां स्वार्थ होगा वहां परमार्थ नहीं होगा और जहां संकीर्णता होगी वहां विराटता नहीं आएगी। 

Posted By: Umesh Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस