लखनऊ, जेएनएन। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ नए राशन कार्ड धारकों को तत्काल राशन उपलब्ध कराने पर संतोष व्यक्त करते हुए कहा है कि राज्य में खाद्यान्न का सुचारु वितरण कराया जाए। उन्होंने सभी जरूरतमंदों को खाद्यान्न उपलब्ध कराते हुए यह सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं कि प्रदेश में कोई भूखा न रहे। उन्होंने निर्देश दिया कि खाद्यान्न वितरण में घटतौली और अनियमितताओं पर तत्काल अंकुश लगाया जाए। उन्होंने अफसरों को निर्देश दिया कि घटतौली व अन्य अनियमितताओं को रोकने के लिए तकनीक आधारित कार्य योजना तैयार कर एक सप्ताह में उसे लागू करें। 

कोरोना महामारी के दृष्टिगत अर्थव्यवस्था के साथ ही आमजन, विशेषकर श्रमिकों के जीवन को दोबारा विकास की ओर अग्रसर करने हेतु लागू किए गए 'अनलॉक-1' की मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ प्रतिदिन समीक्षा कर रहे हैं। इसी क्रम में बुधवार को टीम-11 के अफसरों के साथ यह बैठक लोक भवन, लखनऊ में आहूत की गई। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के खिलाफ जंग में हर स्तर पर सतर्कता और सक्रियता आवश्यक है। कोरोना के प्रसार को रोकने तथा संक्रमित लोगों की संख्या को कम रखने में बेहतर समन्वय का विशेष महत्व है। कोरोना से मृत्यु की दर को प्रत्येक दशा में कम रखना है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों के साथ कोरोना संक्रमण और अन्य व्यवस्थाओं की समीक्षा बैठक में निर्देश दिया कि कंटेनमेंट जोन में डोर स्टेप डिलीवरी व्यवस्था मजबूती से लागू रखें। जिलों में तैनात स्वास्थ्य विभाग के नोडल अधिकारी कोविड चिकित्सालय और नॉन कोविड अस्पतालों का निरीक्षण अनिवार्य रूप से करें। उन्होंने कहा कि मेडिकल स्क्रीनिंग तथा निगरानी समितियों को सुदृढ़ करके कोरोना पर अंकुश लगाया जा सकता है। सीएम योगी ने आगरा, मेरठ, कानपुर, अलीगढ़, मुरादाबाद, फीरोजाबाद के मेडिकल कॉलेजों की उपचार व्यवस्था पर विशेष ध्यान देने के निर्देश दिये। टेस्टिंग लैब को भी बढ़ाया जाए। एक लाख से ज्यादा बेड कोविड मरीजों के लिए आरक्षित किये जा चुके हैं। यह पूरे देश में रिकॉर्ड है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोरोना जांच के लिए सभी 75 जनपदों के लिए ट्रू-नैट मशीनें उपलब्ध हो जाने का संज्ञान लेते हुए इन्हें तत्काल जिलों में भेजने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाए कि ट्रू-नैट मशीनें एक सप्ताह के अंदर कार्य करने लगें। कोविड-19 की टेस्टिंग क्षमता को शीघ्र बढ़ाकर 15 हजार टेस्ट प्रतिदिन किया जाए। प्रत्येक जनपद में सभी वेंटीलेटरों को क्रियाशील रखा जाए।

उन्होंने कहा कि कंटेनमेंट जोन में की निगरानी में सख्ती बरती जाए। बाजार भी खुल गए हैं, इसलिए पुलिस लगातार पेट्रोलिंग करती रहे। शारीरिक दूरी का पालन करवाया जाए। सीएम योगी ने कहा कि प्रदेश में निवेश के लिए अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त निवेशकों से लगातार संवाद बनाएं। प्रवासी श्रमिकों को रोजगार देने के लिए हर जरूरी कदम उठाए जाएं। उन्होंने कहा कि गेहूं क्रय केंद्रों का सुचारु रूप से संचालन सुनिश्चित करते हुए किसानों को एमएसपी का पूरा लाभ दिलाया जाए।

Posted By: Umesh Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस