लखनऊ, जेएनएन। लॉकडाउन के फंसे श्रमिक-कामगारों को दूसरे राज्यों से वापस लाने का अभियान अब बंद होने जा रहा है। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार का दावा है कि अब तक 27 लाख लोग वापस आ चुके हैं। गुरुवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्पष्ट कह दिया कि जिसे भी यूपी वापस आना है, वह इस माह तक आ जाए। इस संबंध में उन्होंने ट्वीट भी किया है। जाहिर है कि इसके बाद श्रमिक-कामगारों को खुद पैसा लगाकर अपनी व्यवस्था से लौटना पड़ेगा। मुख्यमंत्री ने गुरुवार को अपने सरकारी आवास पर टीम-11 के अधिकारियों के साथ लॉकडाउन व अन्य व्यवस्थाओं की समीक्षा की। 

लोकभवन में पत्रकारों से बातचीत में अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि दूसरे राज्यों से ट्रेन द्वारा लाने के लिए चलाए जा रहे अभियान का संभवत: इस माह समापन हो जाए। मुख्यमंत्री ने कहा है कि जो भी श्रमिक व कामगार यूपी में वापसी करना चाहते हैं, वह इस महीने तक वापसी कर लें।

अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि गुरुवार को दोपहर दो बजे तक यूपी में 1411 ट्रेन आ गई हैं, जिनमें 19 लाख 15 हजार लोग आए हैं। उन्होंने बताया कि 63 अन्य ट्रेन भी आने वाली हैं। इसके अतिरिक्त 140 ट्रेनों के आने की सहमति दी गई है। प्रदेश में अब तक करीब 27 लाख से अधिक लोगों की वापसी हो गई है। अब सरकार ने श्रमिक स्पेशल ट्रेन या बसों से निश्शुल्क वापसी के अभियान को बंद करने का मन बना लिया है। इसके बाद यदि कोई वापस आएगा तो उसे यात्रा का खर्च खुद उठाना पड़ेगा।

प्रदेश में कराएं स्वदेशी वस्तुओं का निर्माण : कोरोना महामारी से लड़ने के साथ ही सरकार प्रदेश में औद्योगिक विकास के लिए भी लगातार प्रयासरत है। इसी दिशा में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि प्रदेश में स्थापित उद्योगों और नए स्थापित होने जा रहे उद्योगों से स्वदेशी वस्तुओं का निर्माण कराया जाए। इससे स्वदेशी अभियान की सफलता के साथ ही श्रमिक-कामगारों को रोजगार भी मिलेगा। इसके अलावा योगी ने गृह विभाग को निर्देश दिए हैं कि प्रदेश में जो भी बिना मास्क के घूमते मिले, उससे नियमानुसार जुर्माना लिया जाए। साथ ही पांच-पांच रुपये में सरकार उसे मास्क भी मुहैया कराएगी। यह व्यवस्था शुरू कर दी गई है।

नौ लाख रोजगार के लिए आज होगा करार : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि हर हाथ को काम मिले, इस नीति पर सरकार काम कर रही है। इसके तहत ही इंडियन इंडस्ट्री एसोसिएशन सहित अन्य औद्योगिक संस्थाओं के साथ शुक्रवार को एमओयू साइन किया जा रहा है। इससे प्रदेश के नौ लाख लोगों को रोजगार दिलाया जा सकेगा।

Posted By: Umesh Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस