लखनऊ, जेएनएन। आगरा में महंगाई के खिलाफ समाजवादी पार्टी के प्रदर्शन में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे का वीडियो वायरल हुआ तो वह भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में भी मुद्दा बन गया। समापन सत्र में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस घटना के लिए समाजवादी पार्टी पर चढ़ाई कर दी। पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा कि हमें देश विरोधी विपक्ष का चेहरा बेनकाब करना होगा। आतंकवादियों के शुभचिंतक विपक्ष की नकारात्मकता से लोगों को बचाना होगा।

भाजपा प्रदेश मुख्यालय में शुक्रवार को आयोजित भाजपा प्रदेश कार्यसमिति के समापन सत्र को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आगरा की घटना के साथ ही जबरन मतांतरण के खिलाफ बनाए गए कानून, लखनऊ में आतंकी पकड़े जाने पर विपक्षी दलों के बयान, माफिया पर कार्रवाई आदि मुद्दों के सहारे विरोधी दलों को निशाने पर लिया। कहा कि लव जेहाद के खिलाफ हमने कदम उठाया तो विपक्ष को परेशानी हो रही है। इनके द्वारा फैलाए जा रहे भ्रम को दूर करना होगा। लोगों को विपक्ष की नकरात्मकता से बचाना होगा।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोरोना काल में ये चेहरे कहीं नहीं दिखाई दिए। ये लोग अपने-अपने स्तर पर सिर्फ भ्रम की स्थिति पैदा करके नकारात्मक स्थितियां पैदा कर रहे थे। यह राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दे पर कैसी बयानबाजी कर रहे हैं। इसे लोगों को बताना होगा। मतांतरण के मुद्दे पर मूक-बधिर बच्चों को टूल बनाया गया। लखनऊ में आतंकियों पर कार्रवाई के बाद विपक्षी दलों के बयानों का जिक्र करते हुए योगी बोले कि समाजवादी पार्टी की सरकार के समय में कचहरी ब्लास्ट, बिजनौर सीआरपीएफ कैंप के हमलावरों के मुकदमे वापस करवाने वालों का गुरुवार को आगरा में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगवाना इनके चरित्र और चेहरे को उजागर करता है। लोगों को बताने की जरूरत है कि ये जो कह रहे हैं, वह क्या है।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि चार वर्ष पहले गांव, गरीब, किसान, नौजवान, महिलाएं सरकार के एजेंडे में नहीं होते थे। ये सिर्फ वोटबैंक तक सीमित होते थे, लेकिन इनके लिए जो योजनाएं बनीं, उसका परिणाम सामने आ रहा है। आज एक क्लिक पर पैसा गरीब के खाते में जा रहा है। हमने किसी की जाति-मजहब नहीं देखा। सबको आवास, सबको समान विद्युत आपूर्ति हो रही है। एक लाख 21 हजार गांवों तक विद्युतीकरण किया गया। आजादी के बाद से अब तक इतना काम कभी नहीं हुआ था। सड़कों का जाल बिछा, वरना उत्तर प्रदेश के बारे में कहा जाता था कि जहां से गड्ढे शुरू हों, वो उत्तर प्रदेश है। जहां अंधेरा शुरू हो, वही उत्तर प्रदेश था, लेकिन प्रदेश वही है, सिस्टम वही है। सरकार में चेहरे बदले और काम पूरे हो गए। प्रदेश की अच्छी छवि बनी, कानून व्यवस्था का मानक तय हुआ। माफिया की करीब 1200 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की।

अपनी सरकार की विभिन्न उपलब्धियों, कोविड प्रबंधन आदि का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश कार्यसमिति सदस्यों को आगाह किया कि मतदाता पुनरीक्षण सूची पर ध्यान रखना होगा। विरोधी हमसे ज्यादा तेज होगा। एक तो वह हमारा फार्म भरने न देगा, दूसरा अपना फेक वोटर तैयार कर देगा। इसको लेकर सतर्क रहना होगा।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हम 2022 विधानसभा चुनाव के मुहाने पर खड़े हैं। विपक्षियों द्वारा मुद्दों को लेकर गुमराह करने का प्रयास भी किया जाएगा, जिसको लेकर सचेत रहने की जरूरत है। जिन परिस्थितियों में हम लोग काम कर रहे हैं हमें हर एक नागरिक के जीवन और जीविका को बचाना है। विपक्ष आज अफवाह फैला रहा है, लोगों को गुमराह कर रहा है, लेकिन जब लोगों की मदद की बारी आई तो कोई सामने नहीं आया।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जब कोरोना आया था तब हमारे पास टेस्टिंग क्षमता नहीं थी। आज हमारे पास चार लाख टेस्ट प्रतिदिन करने की क्षमता है। आज उत्तर प्रदेश 6 करोड़ कोविड टेस्ट करने वाला देश का पहला राज्य बना है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बनाई रणनीति ट्रेस, टेस्ट, ट्रीट पर काम करके ही हमने कोरोना जैसी महामारी को काबू करने में सफलता पाई है। साथ ही हमारी निगरानी समितियां भी लगातार कोविड लक्षण वाले लोगों की जांच से लेकर इलाज तक की व्यवस्था कर रही थी। उन्होंने कहा कि कोरोना का असर कम नहीं हुआ है। हमें लापरवाह नहीं होना है। कोविड प्रोटोकाल का पालन करना है। जीवन भी बचाना है और जीविका को भी बचाना है।

यह भी पढ़ें : BJP प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में UP विधानसभा चुनाव की रणनीति तय, 'अंत्योदय' सिद्धांत पर चलेगा मिशन 2022

यह भी पढ़ें : भाजपा प्रदेश कार्यसमिति के उद्घाटन सत्र में बोले जेपी नड्डा- छोटे दिल वाले नहीं संभाल सकते इतना बड़ा उत्तर प्रदेश

यह भी पढ़ें : भाजपा प्रदेश कार्यसमिति में स्वतंत्र देव सिंह ने कहा- कोरोना काल में हम जनहित के कार्यों में और विपक्ष बयानबाजी में रहा व्यस्त

Edited By: Umesh Tiwari