लखनऊ, जेएनएन। सचिवालय में नौकरी का झांसा देकर दो जालसाजों ने बेरोजगार ऋषि कुमार से 3.10 लाख रुपए ऐंठ लिए। पीड़िता की तहरीर पर  दोनों जालसाजों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। पुलिस आरोपितों की तलाश कर रही है।

ये है पूरा मामला 

दरअसल, इटावा के भरथना निवासी ऋषि कुमार आलमबाग में एक निजी कंपनी में नौकरी करते थे। वर्ष 2018 में उनकी मुलाकात आमलबाग के चंदर नगर निवासी अंकित सिंह से हुई। दोनों में अच्छी बातचीत होने लगी। इस बीच ऋषि की नौकरी भी छूट गई। यह देख अंकित ने अपने दोस्त लवकुश की ऊंची पहुंच और सचिवाल में अच्छी सेटिंग का हवाला देते हुए ऋषि की नौकरी लगवाने की बात कही। ऋषि तैयार हो गया। अंकित के कहने पर ऋषि ने उसके खाते में 3.50 लाख रुपये ट्रांसफर किए। उसके बाद खरीब एक लाख से अधिक कैश दिया। काफी समय बीतने के बाद भी ऋषि की नौकरी नहीं लगी तो उसने इस बारे में पूछा। इस पर दोनों टाल मटोल करने लगे। ऋषि ने रुपयों की मांग की तो टरका दिया। इसके बाद उससे टालमटोल करने लगा। इसके बाद ऋषि ने बीते जनवरी माह में आलमबाग कोतवाली में शिकायत की। समझौता हुआ तो दोनों ने दो बार में कुछ रुपये वापस किए। बचे हुए 3.10 लाख रुपये एक माह बाद देने के लिए कहा। कई महीने बीतने के बाद भी रुपये बचे हुए 3.10 लाख रुपये नहीं दिए। इसके बाद ऋषि ने एसीपी आमलबाग को जानकारी दी। इसके बाद अंकित और लवकुश के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया। इंस्पेक्टर आलमबाग प्रदीप कुमार ने बताया कि रिपोर्ट दर्ज कर दोनों की तलाश की जा रही है।

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021