लखनऊ। दो दिन पहले मौसम के करवट लेने के बाद पारा में गिरावट दर्ज की गई, जिससे शुक्रवार को फिर से सर्दी का अहसास हुआ। लोग ठिठुरते नजर आए। बादलों के बीच सूर्य देव ने दर्शन तो दिए पर धूप का असर नहीं दिखा। सर्द हवाओं के आगे धूप नतमस्तक रही। रात से कोहरे का कहर जारी रहा। फिर शाम को ठिठुरन बढ़ गई।

मौसम विभाग के निदेशक जेपी गुप्ता के मुताबिक अभी तीन-चार दिन लखनऊ व उसके आसपास बारिश होने के कोई आसार नहीं हैं। हालांकि रात के कोहरे की चादर सुबह तक छायी रहेगी। दिन में आसमान साफ रहेगा। शुक्रवार को शहर का अधिकतम तापमान 23.3 डिग्री व न्यूनतम 9.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

आगरा क्षेत्र में मकर संक्रांति पर ठंड ने हाड़ कंपा दिए। कई दिनोंं के खुशगवार मौसम के बाद गुरुवार रात से चली तेज हवाओं सेे सर्दी की जोरदार वापसी हुई। ऊपर से कोहरे की घनी पर्त ने डराने का काम किया। शुक्रवार दोपहर बाद तक कोहरा छाया रहा और तेज हवाओं की मार जारी रही। इससे पारा एकदम पांच डिग्र्री नीचे आ गया। मथुरा में अधिकतम तापमान सबसे कम 14 डिग्र्री रिकॉर्ड किया गया, जबकि मंडल के सभी जिलों में न्यूनतम तापमान 8.7 से 9.5 के बीच रहा।

अलीगढ़ और आसपास सुबह घना कोहरा था, दिनभर शीतलहर के चलते गलन से लोग कांप उठे। लोगों को अलाव का सहारा लेना पड़ा। बादलों की लुकाछिपी के बीच दोपहर एक बजे के सूर्यदेव के दर्शन हुए। हालंाकि, शाम चार बजे फिर मौसम साफ हो गया। अधिकतम तापमान 17 डिग्री व न्यूनतम आठ डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। बरेली में मकर संक्रांति के साथ ही ठंड में इजाफा दर्ज किया गया है। सुबह-शाम कोहरा भी गहराया है। बदायूं, शाहजहांपुर, पीलीभीत में सर्द हवाओं का कहर रहा। न्यूनतम पारा छह डिग्र्री तक दर्ज किया गया। मुरादाबाद समेत मंडल के रामपुर, अमरोहा व सम्भल में दिनभर धूप खिली रही, लेकिन सर्द हवाओं के साथ गलन ने इसे बेअसर कर दिया। सुबह के वक्त कोहरा छाया रहा।

Posted By: Ashish Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस