नई दिल्ली, जेएनएन। श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने कहा कि 25 मार्च यानी चैत्र मास के पहले दिन से अयोध्या स्थित नए स्थान पर रामलला के दर्शन किए जा सकेंगे। इसके लिए रामलला को अस्थायी मंदिर में स्थानांतरित किया रहा है। प्रशासन को 15 दिनों का वक्त दिया गया है। चंपत राय यहां इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केंद्र में आयोजित अयोध्या पर्व के समापन समारोह को संबोधित कर रहे थे।

नजदीक से होंगे दर्शन

राय ने कहा कि मौजूदा समय में रामलला के दर्शन 52 फीट की दूरी से एक या दो सेकंड के लिए लोग कर पाते हैं। हम ऐसी व्यवस्था कर रहे हैं कि यह दूरी घट कर 26 फीट रह जाए और लोग एक से दो मिनट तक दर्शन का लाभ ले सकें। साथ ही लोग आरती में भी शामिल हो सकें।

शिलान्यास नहीं, भूमि पूजन होगा

चंपत राय ने कहा कि श्री राम मंदिर के निर्माण के लिए 30 साल पहले ही शिलान्यास किया जा चुका है, अब भूमि पूजन किया जाएगा। यह काम वृहद रूप से कैसे संपन्न होगा, इसका खाका तैयार किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि मंदिर निर्माण की तिथि व भूमि पूजन का मुहूर्त तकनीकी टीम की रिपोर्ट आने के बाद ही तय हो पाएगा।

श्रद्धालुओं की सुरक्षा होगी प्राथमिकता

चंपत राय ने कहा कि भूमि पूजन के मौके पर या फिर रामलला के दर्शन करने आने वाले श्रद्धालुओं की सुरक्षा व्यवस्था को पुख्ता करना हमारी प्राथमिकता है। यहां राम नवमी के मौके पर प्रति वर्ष 15-20 लाख लोग आते हैं, वे रामलला के दर्शन और पूजन आसानी से कर सकें, यह हमारा पहला दायित्व है।

सांस्कृतिक और लोकसंगीत के कार्यक्रम हुए आयोजित

अयोध्या पर्व के तीसरे दिन सांस्कृतिक और लोक संगीत के कार्यक्रम हुए। कवि सम्मेलन में लोक नायिका मृणालिनी ने राम कथा के भजन पर कथक की प्रस्तुति से और इसके बाद मीरा प्रसाद ने दमदार सितारवादन के जरिये श्रोताओं को मंत्र- मुग्ध कर दिया। 

गुलाबी पत्थरों से बनेगा मंदिर, उम्र होगी 500 साल 

चंपत राय ने कहा कि भव्य राम मंदिर का निर्माण किया जाना है। इसकी उम्र कम से कम 500 साल तक हो, इसलिए मिट्टी की जांच होनी जरूरी है। यह काम तकनीकी टीम कर रही है। मंदिर कंक्रीट का नहीं बनेगा, क्योंकि उसकी उम्र अधिकतम सौ साल मानी जाती है। लोहे में जंग लगने की संभावना अधिक होती है। लिहाजा मंदिर का निर्माण राजस्थान के गुलाबी पत्थरों से किया जाएगा, जिसे सैंड स्टोन कहा जाता है। राष्ट्रपति भवन भी इसी पत्थर से निर्मित है।

Posted By: Krishna Bihari Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस