लखनऊ (जेएनएन)। सीबीआइ लखनऊ की एंटी करेप्शन ब्रांच ने सुलतानपुर में बड़ौदा उत्तर प्रदेश ग्रामीण बैंक के शाखा प्रबंधक राकेश चंद्र ठाकुर को छह हजार रुपये घूस लेते गिरफ्तार किया है। किसान क्रेडिट कार्ड की किस्त जारी करने के बदले शाखा प्रबंधक इस रकम की मांग कर रहे थे। उल्लेखनीय है कि सीबीआइ भ्रष्टाचार के मामलों में लगातार कार्रवाई कर रही है। गत दिनों सीबीआइ ने फर्रुखाबाद में आयकर अधिकारी संजय जैन व वकील प्रमोद शर्मा को डेढ़ लाख रुपये घूस लेते रंगे हाथ पकड़ा था। 

सुलतानपुर के ग्राम सूर्यभानपट्टी निवासी गिरजा शंकर मिश्र ने आठ मार्च को सीबीआइ के अधिकारियों को प्रार्थनापत्र देकर घूस मांगे जाने की शिकायत की थी। गिरजा शंकर ने सीबीआइ को बताया कि बड़ौदा उप्र ग्रामीण बैंक की शाखा हरिहरपुर (सुलतानपुर) में उन्होंने करीब सवा चार लाख का किसान क्रेडिट कार्ड बनवाया है, जिसकी पहली किस्त देने के लिए उन्होंने शाखा प्रबंधक से संपर्क किया था। शाखा प्रबंधक किस्त देने के बदले छह हजार रुपये की मांग की। सीबीआइ लखनऊ की एंटी करेप्शन ब्रांच के उपनिरीक्षक संतोष कुमार को मामले की जांच सौंपी गई थी। सीबीआइ टीम ने सुलतानपुर जाकर ट्रैप किया और आरोपित शाखा प्रबंधक को घूस लेते पकड़ा। सीबीआइ ने शाखा प्रबंधक के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। बताया गया कि सीबीआइ टीम ने सोमवार को ट्रैप किया था, जिसके बाद आरोपित शाखा प्रबंधक से लंबी पूछताछ की गई।

By Nawal Mishra