लखनऊ, जेएनएन। कार चोरों को पुलिस का बिलकुल खौफ नहीं था। यही वजह रही कि सोमवार रात एक बार नहीं चोरों ने कुछ अंतराल पर दो बार कार बाजार में घुसकर बारी-बारी आठ कार पार कर दीं। पहली बार कार चार पौने बारह बजे घुसे थे और पौने तीन बजे के बीच आठों गाडिय़ां पार कर दीं। पुलिस को कार बाजार से मिले डीवीआर में एक युवक लोहे के रॉड से गेट का ताला तोड़ते दिखा था। फुटेज में कुल चार लोग देखे गए हैं।

एएसपी ट्रांसगोमती राजेश श्रीवास्तव के मुताबिक प्रारंभिक जांच में सामने आया है कि रात करीब 1:36 बजे चार गाडिय़ां पार की गई थीं। इसके बाद आरोपित दोबारा कार बाजार आए और 2:36 बजे चार गाडिय़ां लेकर भाग निकले।

केजीएमयू में खड़ी की चोरी की कार

चारों ने गाडिय़ां केजीएमयू परिसर में खड़ी थीं और सबके नंबर प्लेट हटा दिए थे। पड़ताल के दौरान पुलिस ने मंगलवार रात में ही इन वाहनों की लोकेशन का पता लगा लिया था। आरोपितों ने शताब्दी अस्पताल, पैथोलॉजी, एनॉटमी और ब्लड बैंक की पार्किंग में चारों गाडिय़ां खड़ी की थीं। पुलिस की टीमों ने हर गाड़ी के आसपास नजरें जमा रखी थीं और इस तैयारी में थीं कि आरोपित जैसे ही आएंगे उन्हें दबोच लिया जाएगा। हालांकि पकड़े गए आरोपितों को भनक लग गई और वह वहां नहीं पहुंचे। इसके बाद पुलिस ने सर्विलांस की मदद से दोनों को दबोच लिया। दोनों आरोपित पॉवर हाउस कॉलोनी काकोरी में किराए के कमरे में रहते हैं।

कनक कार बाजार से पहले भी चोरी की थी फॉच्र्यूनर, गए थे जेल

पकड़ा गया दीपक चौरसिया शातिर चोर है और गिरोह के सरगना मंगलेश के साथ कनक कार बाजार से एक फॉच्र्यूनर गाड़ी पहले भी चोरी की थी। दोनों को फरवरी में बलरामपुर पुलिस ने गिरफ्तार किया था। सभी आरोपित कार बाजारों से जुड़े हैं और गाड़ी चलाने का काम करते हैं। आरोपितों ने घटना को अंजाम देने से पहले रेकी की थी। इस वारदात में कार बाजार का कोई कर्मचारी शामिल है या नहीं, इसकी पड़ताल की जा रही है।

यह भी पढ़ें :  लखनऊ में लक्जरी कारों की चोरी के मामले में दो अरेस्ट, मास्टरमाइंड की तलाश 

Posted By: Umesh Tiwari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप