लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश में लंबे समय से सहायक अध्यापक पद पर भर्ती की मांग को लेकर परेशान अभ्यर्थियों ने आज बेसिक शिक्षा मंत्री को ही घेर लिया। इन सभी ने मंत्री को एक ज्ञापन भी सौंपा है।

बेसिक शिक्षा राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार सतीश द्विवेदी बुधवार को राज्य शैक्षिक तकनीकी संस्थान परिसर में आए थे। इसी दौरान अभ्यर्थियों ने मंत्री को ज्ञापन सौंपा और करियर बचाने की मांग की। अभ्यर्थियों ने कहा कि वर्ष 2016 में सहायक अध्यापक पद के लिए 12460 पदों पर भर्ती प्रक्रिया शुरू की गई थी इसमें से आधे पदों पर शिक्षक नियुक्त भी हो चुके हैं लेकिन मार्च 2017 में नई सरकार आने के बाद शेष करीब 6000 पदों पर भर्ती रोक दी गई।

इसके बाद 24 जिलों में शिक्षक पदों को शून्य घोषित कर दिया गया। इतना होने के बाद अभ्यर्थी कोर्ट चले गए और तब से मामला लंबित है। राज्य सरकार की ओर से महाधिवक्ता को गुरुवार 4 मार्च को कोर्ट में अपना पक्ष रखना है। ऐसे में अभ्यर्थियों ने मंत्री से मांग की कि वह बकाया 6000 अभ्यर्थियों का भविष्य बचाने के लिए ठोस कदम उठाएं। अभ्यर्थियों ने कहा पिछले तीन वर्ष से वह दौड़ दौड़ कर परेशान हो गए हैं, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हो रही। फिलहाल मंत्री ने अभ्यर्थियों को भरोसा दिलाया वह इस मामले में अधिकारियों से बातचीत कर कोई सकारात्मक निर्णय लेंगे। 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस