लखनऊ [राज्य ब्यूरो]। उत्तर प्रदेश के सभी जिलों में सोमवार से पीएम किसान समाधान अभियान शुरू हो रहा है। इसमें उन किसानों की समस्याओं का तत्काल समाधान किया जाएगा, जिन्हें पात्र होते हुए प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि नहीं मिल पा रही है। हर विकासखंड मुख्यालय के राजकीय बीज गोदाम पर कर्मचारी लगाए गए हैं जो किसानों की समस्या दूर कराएंगे।

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार का किसानों की समस्याओं के निस्तारण पर विशेष जोर है। बड़ी संख्या में प्रकरण इन दिनों लंबित हैं, ऐसे में कृषि विभाग ने उनका समाधान मौके पर कराने के लिए अभियान शुरू किया है। अपर मुख्य सचिव कृषि डा. देवेश चतुर्वेदी ने बताया कि विशेष अभियान सभी जिलों के ब्लाक मुख्यालयों पर 11 से 13 अक्टूबर तक चलेगा।

अपर मुख्य सचिव कृषि डा. देवेश चतुर्वेदी ने बताया कि जिन किसानों के आधार नंबर गलत दर्ज है या आधार कार्ड के हिसाब से किसान का नाम दर्ज न होने से उन्हें प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि का लाभ नहीं मिल पा रहा है। ऐसे किसान अपने विकासखंड के राजकीय बीज गोदाम पर आधार कार्ड व बैंक खाते का विवरण लेकर पहुंचे वहीं पर उनका डेटा दुरुस्त किया जाएगा। उन्होंने बताया कि तीन दिन तक राजकीय बीज गोदाम पर कंप्यूटर आपरेटर उपस्थित रहेंगे वे तुरंत पोर्टल पर नाम व अन्य विवरण ठीक कर देंगे। यदि किसी किसान आधार संख्या या नाम में गलती है तो उनका विवरण लेकर व सत्यापन करके उसे भी दुरुस्त किया जाएगा।

अपर मुख्य सचिव कृषि डा. देवेश चतुर्वेदी ने जिलों के उप कृषि निदेशकों को निर्देश दिया है कि वे हर दिन निस्तारित व लंबित प्रकरणों का अनुश्रवण करें। उन्होंने यह भी बताया कि विशेष अभियान में किसानों की अन्य समस्याओं का भी निस्तारण कराने के निर्देश हैं। वहां अधिकारी प्रकरण सुनकर किसानों को रास्ता भी सुझाएंगे। इसके लिए बीज गोदाम प्रभारी व पर्यवेक्षण के लिए जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद रहेंगे।

Edited By: Umesh Tiwari