बहराइच, जेएनएन। 65 साल की माधुरी को आंखों से कम दिखता है। 70 साल की रजनी भी मोतियाङ्क्षबद से पीडि़त हैं। चिकित्सक ने जांच कर उन्हें चश्मा लेने व ऑपरेशन की सलाह दी थी। ब्लॉक में लगे शिविर में मिली पर्ची को लेकर मंगलवार को लाभार्थी विश्व दिव्यांग दिवस पर शहर के महराज ङ्क्षसह इंटर कॉलेज परिसर में सहायक उपकरण वितरण समारोह में खुशी-खुशी पहुंची थीं। पटल पर पर्ची दिखाई तो उन्हें कृत्रिम दांत थमा दिया गया। बोली बेटा बुढ़ापे में दांत से ज्यादा आंखों से दिखना जरूरी है। हम तुम्हें साफ देख नहीं पा रहे हैं। अब बुढ़ापे में यह दांत लेकर क्या करेंगे। पटल पर मौजूद कर्मचारी ने कहा कि पर्ची में जो लिखा है उसे ही हम दे सकते हैं।

यह सफल दावों की सिर्फ बानगी रही। कई लाभार्थी रहे, जिन्हें बीमारी कुछ और उपकरण दिए गए कुछ और। जिले में बीमारी व अन्य कारणों से दिव्यांग हुए मरीजों को आत्मनिर्भर व आत्मविश्वास बढ़ाने के लिए 14 ब्लॉकों में शिविर लगाए गए थे। इन शिविरों में चिकित्सकों ने बीमार लोगों का परीक्षण किया था। बीमारी के मुताबिक सहायक उपकरण मुहैया कराने के लिए पर्ची दी थी। पयागपुर की माधुरी, रजनी, श्यामकली, व राधा बहुत खुश हुई थीं। खुशी का ठिकाना नहीं रहा जब सुबह घर से उपकरण देने के लिए उन्हें सरकारी खर्चे पर शहर के महराज ङ्क्षसह इंटर कॉलेज लाया गया, लेकिन यह खुशी उस समय काफूर हो गई, जब आंख के चश्मे के बजाय उन्हें कृत्रिम दांत दिए गए। यहीं नहीं 25 फीसद ऐसे लोग रहे, जिनका ब्लॉकों में परीक्षण तो हुआ, लेकिन उन्हें पर्ची नहीं दी गई। दो बजे ऐसे लोगों को भी लाभांवित करने के लिए माइक से एलाउंस किया गया, तब तक कई लौट चुके थे। पीडी अनिल ङ्क्षसह, पीडी डूडा संजय ङ्क्षसह, डीएओ सतीश पांडेय, डॉ. एसके वर्मा, आरपी ङ्क्षसह व अन्य मौजूद रहे। 

विधायक, डीएम व एसपी ने किया शुभारंभ

पयागपुर विधायक सुभाष त्रिपाठी, डीएम शंभु कुमार व एसपी डॉ. गौरव ग्रोवर ने चिह्नित दिव्यांगजनों को ट्राई साइकिल देकर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। उन्होंने कहा कि ये उपकरण दिव्यांगजनों की ङ्क्षजदगी को आसान बनाने में महत्वपूर्ण साबित होंगे। इसके बाद अन्य दिव्यांगों को उपकरण बांटे गए। 

दिव्यांग बच्चों ने बांधा समां

बाबा सुंदर ङ्क्षसह बधिर विद्यालय के बच्चों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम के जरिए समां बांधा। बच्चों की कला का पंडाल में मौजूद सभी लोगों ने तालियां बजाकर सराहना की। 

Posted By: Anurag Gupta

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप