लखनऊ, जेएनएन। दो दिन पहले एक घायल बछड़े के इलाज में मददगार बनी यूपी पुलिस ने इस नेक काम को व्यवस्थित ढंग से करने की इच्छाशक्ति दिखाई है। वर्ल्ड एनीमल डे के अवसर पर शुक्रवार को यूपी 100 ने 'एनीमल रेस्क्यू वालंटियर' कार्यक्रम की शुरुआत की। इसके साथ ही खाकी का संवेदनशील चेहरा भी सामने आया है। दरअसल, अब आप अपने क्षेत्र में किसी पशु को घायल अथवा बीमार अवस्था में पड़ा देखकर उसकी मदद के लिए सीधे 100 पर कॉल कर सकते हैं। पुलिस उससे जुड़ी एनीमल वेलफेयर संस्थाओं के जरिये घायल अथवा बीमार पशुओं को चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराएगी। इस वर्ष अब तक 18756 पशुओं को संवेदनशील नागरिकों की सूचना पर मदद पहुंचाई गई है।

एडीजी यूपी 100 असीम अरुण ने बताया कि पुलिस से अब तक 24 से अधिक एनीमल रेस्क्यू वालंटियर जुड़ चुके हैं। पशुओं की सेवा करने वाली संस्थाएं यूपी 100 में कॉल करके अथवा यूपी 100 की वेबसाइट पर सीधे अपना पंजीकरण करा सकती हैं। यूपी 100 पर पशुओं की मदद से जुड़ी कोई कॉल आने पर पुलिस संबंधित क्षेत्र की संस्था अथवा एनीमल रेस्क्यू वालंटियर को मौके पर भेजेगी। संबंधित क्षेत्र में तैनात यूपी 100 की पीआरवी वालंटियर को मौके तक पहुंचने में सहयोग करेगी।

यूपी पुलिस ने ट्वीट के जरिये भी अपनी इस नई सेवा की जानकारी लोगों से साझा की है। बताया गया कि दो दिन पूर्व लखनऊ के इंदिरानगर क्षेत्र में एक बछड़ा घायल पड़ा था। जागरूक नागरिक साक्षी ने यूपी 100 पर कॉल कर बछड़े के उपचार के लिए पुलिस से मदद मांगी थी। पुलिस ने एनीमल वेलफेयर संस्था से जुड़ेे अंकित के जरिये घायल बछड़े को इलाज उपलब्ध कराया। एडीजी के अनुसार इस घटना के बाद ही पशुओं के लिए एनीमल रेस्क्यू वालंटियर सेवा की परिकल्पना की गई, जिसे शुक्रवार को शुरू कर दिया गया।  

Posted By: Umesh Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस