लखनऊ, जेएनएन। इंजीनियर‍िंग कॉलेज चौराहे पर गुरुवार सुबह एक तेज रफ्तार अनियंत्रित बस फुटपाथ पर चढ़ गई। हादसे में दो सगी बहनों की मौत हो गई, जबकि पांच अन्य गंभीर रूप से घायल हो गए। सीओ अलीगंज स्वतंत्र सिंह के मुताबिक बस चालक के खिलाफ गैर इरादतन हत्या समेत अन्य धाराओं में एफआइआर दर्ज कर छानबीन की जा रही है।

 

जानकीपुरम सेक्टर तीन में झोपड़पट्टी में रहने वाले पप्पू ने बताया कि गुरुवार सुबह करीब साढ़े पांच बजे उसके भाई दिनेश अपनी बेटियों खुशबू (13) और पूजा (6) के साथ इंजीनियर‍िंग कॉलेज के फुटपाथ पर खड़े थे। इसी बीच सीतापुर की ओर से आ रही प्राइवेट बस ने टेंपो में टक्कर मार दी। इसके बाद अनियंत्रित होकर फुटपाथ पर चढ़ा दिया। दिनेश, खुशबू और पूजा समेत अन्य लोग बस की चपेट में आ गए।

स्थानीय लोगों ने पुलिस की मदद से किसी तरह बस के नीचे दबे लोगों को बाहर निकाला और उन्हें ट्रामा सेंटर भेजा। ट्रामा में डॉक्टरों ने खुशबू और पूजा को मृत घोषित कर दिया, जबकि दिनेश की हालत नाजुक बनी हुई है। पुलिस के मुताबिक अन्य घायलों की शिनाख्त मक्कागंज सीतापुर निवासी अकरम, सिधौली निवासी बबलू व जानकीपुरम निवासी करन के रूप में हुई है। वहीं एक अन्य घायल की पहचान नहीं हो सकी है। दिनेश मूलरूप से सीतापुर के सद्दीकपुर बड़ेरा के रहने वाले हैं।

चीख-पुकार ने तोड़ी तंद्रा 

घटना के समय चौराहे पर दुकान लगाने वाले अधिकांश लोग अभी नींद में ही थे। यही नहीं फुटपाथ पर दिनेश और उनकी बेटियों के अलावा अन्य लोग सो रहे थे। इसी बीच तेज आवाज हुई और फिर चीख-पुकार ने लोगों की तंद्रा भंग की। आसपास के लोग दौड़ते हुए बस के पास पहुंचे तो पहियों के नीचे दबे लोगों की चीखें सुनाई पड़ीं। पुलिस को सूचना देने के बाद लोग राहत कार्य में जुट गए।

ट्रक ने टेंपो में मारी थी टक्कर 

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक एक तेज रफ्तार ट्रक ने पहले टेंपो में टक्कर मार दी थी। इससे टेंपो अनियंत्रित होकर बस के सामने आ गई। टेंपो चालक व उसमें बैठी सवारियों को बचाने के चक्कर में बस चालक ने गाड़ी फुटपाथ की ओर मोड़ दी, लेकिन वह उसे रोक नहीं सका। इसकी वजह से फुटपाथ पर खड़े व सो रहे लोग बस की चपेट में आ गए। 

Posted By: Anurag Gupta

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप