लखनऊ, जेएनएन। लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान सोशल मीडिया पर बेहद सक्रिय बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने आज एक बार फिर भाजपा पर बड़ा हमला बोला है। मायावती ने आरोप लगाया है कि नरेंद्र मोदी सरकार सिर्फ कागजों पर ही विकास का दावा कर रही है।

मायावती ने ट्वीट किया है कि विकास दर की बड़े-बड़े दावों से देश के 130 करोड़ गरीबों, मजदूरों, किसानों, बेरोजगारों आदि का अबतक सही भला नहीं हो पाया है। इनकी दिन-प्रतिदिन की समस्याएं अनवरत गंभीर होती जा रही हैं जो अति-दु:खद व दुर्भाग्यपूर्ण है। मायावती ने कहा कि केवल कागजी दावों से जनता का हित व कल्याण कैसे संभव है।

मायावती ने कहा कि भाजपा के शीर्ष नेतृत्व खासकर पीएम नरेन्द्र मोदी पर माब लिंचिंग, गौहत्या व भीड़तंत्र की अराजकता का कोई खास फर्क नहीं पड़ रहा है। इसके साथ ही भाजपा शासित हर राज्य में इस पार्टी के नेता कानून से खिलवाड़ कर रहे हैं। यह अति-दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने कहा कि देश भर में हर स्तर पर सत्ताधारी पार्टी के लोग जिस प्रकार से कानून को खुलेआम हाथ में लेकर अराजकता फैला रहे हैं वह लगातार गंभीर चिन्ता का विषय बना हुआ है। उन्होंने कहा कि भाजपा नेतृत्व के यदाकदा फटकार से अबत क स्थिति में कोई सुधार नहीं आया है और न आगे कोई गारंटी है। मायावती ने कहा कि भाजपा की केंद्र के साथ राज्य की सरकारें ऐसे जातिवादी व धार्मिक उन्मादी जघन्य अपराध अपने राज्यों में लगातार क्यों होने देती हैं जिससे पूरा राज्य व वहां की सरकार ही नहीं बल्कि देश की भी बदनामी होती है और पीएम को भी शर्मिन्दा होना पड़ता है। वैसे अब तो पुलिस व सरकारी कर्मचारी भी इस पार्टी की नई आफत के शिकार हैं।

उन्होंने कहा कि लोगों को हसीन सपने दिखाना परन्तु उस हिसाब से काम नहीं करना व भावनाएं भड़काकर राजनीतिक रोटी सेंकना भाजपा की विशेषता रही है। आज पेश आर्थिक सर्वेक्षण भी प्रमाणित करता है कि गरीबी, बेरोजगारी, किसान आत्महत्या आदि की गंभीर समस्याओं के मामले में यह सरकार उदासीन व लापरवाह रही है।

उन्होंने कहा कि बसपा तो गरीब, मजलूम व शोषितों के हक व इंसाफ की लड़ाई शान्तिपूर्ण व लोकतांत्रिक तरीके से लगातार जारी रकेगी। मायावती ने कहा कि बसपा के जनाधार को सर्वसमाज में बढ़ाने के लिए उन्हें यह जागरूक करना जरूरी है कि उनका हित केवल बसपा में ही सुरक्षित है। बसपा के आने के बाद से ही देश तथा सभी राज्य जातिवादियों के शिकंजे से मुक्त होकर वास्तव में कल्याणकारी सरकार की स्थापना होगी।

बसपा अध्यक्ष मायावती ने लखनऊ में संगठन की तैयारियों की समीक्षा के साथ फेरबदल आदि व जनाधार को सर्वसमाज में बढ़ाने के क्रम में आज बैठक की। आज उन्होंने मध्य प्रदेश में पार्टी गतिविधियों की समीक्षा की और संगठन को चुस्त-दुरूस्त करने के लिए जरूरी फेरबदल के साथ ही दिशा-निर्देश दिया।

बसपा राज्य कार्यालय लखनऊ के भवन में इस बैठक में पड़ोसी  मध्यप्रदेश राज्य के वरिष्ठ व प्रमुख पदाधिकारियों ने भाग लिया और मण्डलवार समीक्षा रिपोर्ट पार्टी प्रमुख को पेश की। समीक्षा बैठक में अन्य बातों के अलावा यह पाया गया कि मध्य प्रदेश में भाजपा की सरकार बदलने व नई सरकार के रूप में कांग्रेस के सत्ता में आने के बाद भी वहां गरीबों, मजदूरों, किसानों, बेरोजगार युवाओं व महिलाओं आदि के साथ-साथ दलितों, पिछड़ों आदि के जीवन में कोई बेहतर बदलाव नहीं आ पाया। वहां भी भाजपा शासित राज्यों की तरह ही जातिवादी व साम्प्रदायिक घटनायें अभी भी लगातार जारी हैं।

मायावती ने कहा कि इंदौर में भाजपा विधायक आकाश विजयवर्गीय के कानून को हाथ में लेनेे के साथ सरकारी कर्मचारी/अधिकारियों से मारपीट की घटना आज पूरे देश मे चर्चा का विषय है। इतना ही नहीं बल्कि जेल से जमानत पर रिहाई के बाद भाजपा नेताओं ने जिस प्रकार से विधायक की आवभगत की, उससे पूरा देश स्तब्ध है और इसकी अति-निन्दा कर रहा है। 

Posted By: Dharmendra Pandey