लखनऊ, जेएनएन। सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (सीबीएसई) के परीक्षा शुल्क में भारी बढ़ोतरी को लेकर बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती बेहद खफा हैं। बसपा सुप्रीमो मायावती ने सीबीएसई परीक्षा का शुल्क बढ़ाए जाने को गरीब विरोधी करार देते हुए सरकार से इसे वापस लेने की अपील की है। मायावती ने इसे भाजपा सरकार का गलत फैसला बताते हुए वापस लेने की मांग की है। 

बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने कहा कि भाजपा सरकार ने सीबीएसई के परीक्षा शुल्क में भारी बढ़ोतरी का जो फैसला लिया है, वह छात्रों के हित में नहीं है। मायावती ने इस बाबत ट्वीट किया है। मायावती ने कहा कि भाजपा सरकार का सीबीएसई परीक्षा शुल्क में भारी बढ़ोतरी का निर्णय बचकाना है। फीस में जो 24 गुना तक बढ़ोतरी की गई है, जिसके तहत अब एससी-एसटी छात्रों को 50 रुपये के बजाय 1200 रुपये देने होंगे।

इसी तरह सामान्य वर्ग के छात्रों के शुल्क में भी दोगुनी वृद्धि की गई है। यह अति दुर्भाग्यपूर्ण व गरीब विरोधी फैसला है। मायावती ने कहा सरकार इसे तुरंत वापस ले। बीएसपी की यह माँग है। छात्र हित के लड़ाई तथा संघर्ष में बसपा उनके साथ खड़ी है। यह तो छात्र-छात्राओं को उच्च शिक्षा से वंचित कराने वाला कदम है।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Dharmendra Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप