लखनऊ, जेएनएन। बहुजन समाज पार्टी  (बीएसपी) की राष्ट्रीय अध्यक्ष व उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने केंद्र सरकार से मांग की है कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना को नवंबर तक नहीं बल्कि कोरोना महामारी के प्रकोप तक जारी रखनी चाहिए। उन्होंने बुधवार को ट्वीट कर कहा कि कोरोना का प्रकोप और उस पर लाॅकडाउन के कारण बेरोजगारी की मार से देशवासियों को बचाने की आवश्यकता है। 

बसपा प्रमुख मायावती ने बुधवार को कहा कि ट्वीट कर केंद्र सरकार से मांग करते हुए कहा कि कोरोना वायरस और उस कारण लाॅकडाउन की पाबंदी व बेरोजगारी आदि की जबर्दस्त मार से पीड़ित देशवासियों को भुखमरी की असहनीय स्थिति से बचाने के लिए 'पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना’ नवंबर तक नहीं बल्कि देश में कोरोना प्रकोप के जारी रहने तक अवश्य ही जारी रहनी चाहिए

बसपा प्रमुख मायावती ने अपने अगले ट्वीट में कहा कि कर्नाटक के बेलारी में कोरोना से हुई मौत पर शवों को गड्डे में फेंकने की घटना और दृश्य मानवता को शर्मसार करने वाला है। कोरोना मरीजों के साथ क्रूर व्यवहार की शिकायतें तो आम बात है, किंतु उनकी लाशों के साथ इस प्रकार की दरिंदगी की सजा दोषियों को वहां की सरकार जरूर दे।

 

Posted By: Umesh Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस