लखनऊ, जेएनएन। कैंट विधानसभा सीट पर उपचुनाव के लिए गुरुवार को कांग्रेस और बसपा प्रत्याशियों ने नामांकन किया। कांग्रेस प्रत्याशी जहां बारिश के बावजूद जुलूस की शक्ल में कलेक्ट्रेट पहुंचे, वहीं बसपा प्रत्याशी प्रतीकात्मक रूप से पर्चा दाखिल कर लौट गए। 

कांग्रेस प्रत्याशी दिलप्रीत सिंह डीपी के नामांकन के दौरान पार्टी नेता प्रमोद तिवारी, प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू, आराधना मिश्रा, पूर्व सांसद राजेश मिश्रा, वरिष्ठ प्रवक्ता अशोक सिंह, वीरेंद्र मदान, मुकेश सिंह चौहान, ममता चौधरी, सचिन रावत  सहित वरिष्ठ नेता नसीब पठान भी शामिल रहे। कृष्णा नगर के विजय नगर से उनका जुलूस शुरू हुआ, जो कलेक्ट्रेट जाकर समाप्त हुआ। प्रमोद तिवारी ने आलमबाग में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि कैंट  की जनता हमेशा ऐतिहासिक फैसले करती रही है। जनता कांग्रेस को ही जिताएगी। प्रत्याशी दिलप्रीत सिंह ने कहा कि कैंट में बुनियादी सुविधाओं के मुद्दे पर चुनाव लड़ रहे हैं।  

दिलप्रीत के पास तीन करोड़ की संपत्ति

कांग्रेस प्रत्याशी दिलप्रीत सिंह को लग्जरी गाडिय़ों का शौक है। उनके पास बीएमडब्ल्यू से लेकर इंडीवर और टाटा सफारी सहित कई वाहन हैं। दिलप्रीत के पास करीब 41 लाख रुपये की चल और करीब 2.23 करोड़ की अचल संपति है। 

बसपा प्रत्याशी के पास लग्जरी वाहनों का काफिला, 22 करोड़ की संपत्ति

बसपा प्रत्याशी अरुण कुमार द्विवेदी 22 करोड़ से अधिक की चल-अचल संपत्ति के मालिक हैं। उनके पास लग्जरी वाहनों का काफिला है तो गहनों की भी कलेक्शन है। वे घडिय़ों के भी शौकीन हैं। अरुण पेंटिंग के भी मुरीद हैं। उनके पास करीब दस लाख रुपये की पेंटिंग का संग्रह है। अरुण के पास मर्सिडीज बेंज से लेकर फोर्ड, कैमरी, क्रेटा, सफारी सहित करीब सात वाहन हैं। उनके पास करीब दो किलो सोने के जेवरात हैं। करीब साढ़े छह करोड़ रुपये की चल संपत्ति है। अचल संपत्तियों में लखनऊ से लेकर दिल्ली और नैनीताल में फार्म, प्लॉट, फ्लैट और व्यावसायिक कांप्लेक्स हैं।

28 और 29 को नहीं होगा नामांकन 

जिला उप निर्वाचन अधिकारी श्रीप्रकाश गुप्ता के मुताबिक 28 और 29 सितंबर को नामांकन नहीं होगा। 30 को नामांकन का आखिरी दिन होगा।

 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस