लखनऊ, जेएनएन। उत्‍तर प्रदेश की राजधानी में बेखौफ चोर घटनाओं को अंजाम देकर पुलिस को चुनौती देते दिखाई दे रहे हैं। इसबार चोरों ने बुधवार सुबह एक बंद मकान का ताला तोड़कर लाखों रुपए का सामान पार कर दिया। खास बात यह है कि मकान पुलिस निगरानी में था और ताले की चाभी भी पुलिस की कस्टडी में ही थी। ताला टूटा देख पड़ोसियों ने बंद मकान स्‍वामी की बहन को सूचना दी।

मौके पर पहुंची पुलिस सन्‍न रह गई। मामले की जांच में जुटी है। बता दें, 29 नवंबर की रात मकान स्‍वामी की हत्‍या के आरोप में मृतक की पत्‍नी व उसके आरोपित के दो नाबालिग भाइयों को पुलिस ने जेल भेजकर जांच को लेकर चाभी अपनी कस्‍टडी में रखी थी। 

 

ये है पूरा मामला 

कृष्णा नगर थानाक्षेत्र के सुनहरा रोड स्थित नारायणपुरी मोहल्ले में रवि प्रकाश पुत्र स्व शिवकरण अपनी पत्नी नीलम व तीन बच्चों के साथ रहता था। बीते 29 नवंबर को रवि का शव घर में मिला था, जिसकी सूचना पत्नी नीलम ने ही पुलिस को दिया थी। इस मामले में पुलिस की पूछताछ के दौरान मृतक की पत्नी टूट गई। उसने बताया कि अपने दो नाबालिक भाइयों संग मिलकर अपने ही पति की गला दबाकर हत्‍या की थी। पुलिस ने पत्नी व उसके दोनों भाइयों को गिरफ्तार कर मामले से पर्दा उठाते हुए बीते 30 नवंबर को मृतक की पत्‍नी व उसके दो नाबालिक भाइयों को जेल भेज दिया था।मृतक के तीन बच्चे अमन, पिंकी व अंकित को मृतक के रिश्‍तेदारों को सुपुर्द कर मकान की चाभी को स्थानीय पुलिस ने अपनी कस्टडी में कर लिया था। किला मोहम्मदी थाना आशियाना निवासी मृतक की बहन तारावती बुधवार सुबह (आज) अपने मृतक भाई के घर पर पहुंची। मकान के मुख्य द्वार का ताला टूटा देख वह अंदर दालिख हुई तो सारा सामान बिखरा देख सन्‍न रह गई। 

गायब भाभी के जेवर, मृतक की बहन ने लगाए ये आरोप 

मृतक की बहन का आरोप है कि वह कृष्णा नगर पुलिस से दो दिनों से मकान की चाभी मांगती रही, लेकिन उसे नहीं दी गई। मृतक भाई ने कुछ दिन पूर्व ही सवेरी मोहान रोड स्थित अपनी जमीन बेचीं थी। जिसका पैसा घर में ही रखा हुआ था, जो गायब है। इसके अलावा रखे उसकी भाभी के जेवर भी गायब मिले। मृतक की बहन ने स्थानीय थाना कृष्णा नगर पहुंचकर चोरी की लिखित शिकायत की है। मृतक की बहन का कहना है कि चोरी की सूचना पर मौके पर चौकी इंचार्ज तो पहुंच गए, लेकिन न ही स्थानीय थाना प्रभारी प्रदीप कुमार सिंह मौके पर पहुंचे और न ही डॉग स्क्वायड व फोरेंसिक टीम को मौके पर बुलाया गया। हालांकि, अभी तक यह स्‍पष्‍ट नहीं हुआ है कि कितने की चोरी हुई है। 

क्‍या कहती है पुलिस ?

कृष्णा नगर पुलिस ने खुद पर आरोप लगता देख कोतवाली प्रभारी प्रदीप कुमार सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि घर में जमीन के दस्तावेज व जेवर होने के नाते आरोपी पत्नी ने किसी भी रिश्तेदार को मकान की चाभी देने से मना किया था। आशंका है कि रिश्‍तेदारों ने ही जमीन व मकान के दस्तावेज के लिए इस घटना को अंजाम दिया है। जल्द ही पता चल जाएगा। वहीं, पुलिस ने चाभी अपने पास होने की बात से इन्‍कार किया है।

 

Posted By: Divyansh Rastogi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस