मलिहाबाद, संवाद सूत्र। लखनऊ के भदवाना गांव में एक द‍िल दहला देने वाला मामला सामने आया। जब  दूल्‍हे को वरमाला पहनाने जा रही दुल्‍हन की अचानक मौत हो गई। शादी की खुश‍ियां मातम में बदल गई। आनन-फानन दुल्‍हन को अस्‍पताल ले जाया गया। जहां डाक्‍टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

शादी के द‍िन बेटी की मौत, नहीं थम रहे स्‍वजनों के आंसू

भदवाना गांव में रहने वाले राजपाल ने शुक्रवार रात पहले बेटी शिवांगी की बारात का स्वागत किया। द्वारचार पूजन के दौरान दूल्हे विवेक की आरती उतारी। महिलाएं मंगलगीत, सोहर गा रहीं थीं। वहीं, दुल्हे के दोस्त और रिश्तेदार बैंडबाजे की धुनों पर डांस कर रहे थे। चौतरफा खुशी का माहौल था। घंटे भर में यह कार्यक्रम संपन्न हुआ दूल्हे को जयमाल के लिए स्टेज पर ले जाया गया। राजपाल की बेटी को भी घर की महिलाएं जयमाल लिए हुए स्टेज पर लेकर पहुंची।

प‍िता के नजर उतारते ही गश खाकर ग‍िर पड़ी बेटी

राजपाल बेटी की नजर उतार रहे थे। स्टेज पर पहुंचते ही शिवांगी एकाएक गश खाकर गिर पड़ीं। घरवालों ने शिवांगी को उठाया और पानी की छीटें डालकर होश में लाने का प्रयास किया। चारो तरफ अफरा-तफरी मच गई। लोगों के चेहरे की हवाइयां उड़ने लगीं। लोग आनन-फानन शिवांगी को लेकर अस्पताल भागे। अस्पताल पहुंचे तो डाक्टरों ने परीक्षण के बाद शिवांगी को मृत घोषित कर दिया। यह सुनते ही चारों तरफ चीख-पुकार मच गई। पल भर में खुशियां मातम में बदल गईं।

दुल्‍हन की दो हफ्ते से खराब थी तबीयत

बेटी की मौत से गमजदा राजपाल ने बताया कि शिवांगी उनकी लाडली थी। डोली उठने से पहले अब उसकी अर्थी उठेगी, यह वह कैसे बर्दाश्त कर पाएंगे। परिवार में शिवांगी की मां कमलेश कुमारी, छोटी बहन सोनम, कोमल और भाई अमित हैं। ग्रामीणों के मुताबिक, शिवांगी की तबीयत दो हफ्ते से खराब थी। उसे बुखार आ रहा था। दवाई भी चल रही थी। बीपी की भी कुछ दिक्कत थी। अनुमान है कि इसी कारण उसकी एकाएक हालत बिगड़ गई।

Edited By: Prabhapunj Mishra

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट