लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को धमकी के मामले में गिरफ्तार अभियुक्त नासिक निवासी सैय्यद मोहम्मद फैसल और मुंबई के कामरान से पूछताछ पूरी हो गई। बुधवार को लखनऊ एसटीएफ और पुलिस की टीम ने दोनों अभियुक्तों को न्यायालय में पेश किया, जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया।

एएसपी एसटीएफ विशाल विक्रम सिंह ने बताया कि दोनों अभियुक्तों का किसी संगठन से कोई संबंध नहीं है। कामरान ने पूछताछ में बताया कि सोशल मीडिया पर सीएम को एक समुदाय के खिलाफ देखकर उसने धमकी दे डाली। कामरान पकड़ा गया तो उसे छोडऩे के लिए साथी फैजल ने डायल 112 के साथ इंस्पेक्टर गोमतीनगर को धमकी दी। कहा कामरान को छोड़ दो नहीं तो अंजाम बुरा होगा। जिसके बाद उसे भी पकड़ लिया गया। 27 मई तक ही दोनों आरोपितों की ट्रांजिट रिमांड मंजूर हुई थी।

कामरान ने धमकी भरा संदेश यूपी 112 के हेल्पडेस्क के व्हाट्सएप नंबर पर भेजा था, वह (8828453350) मोबाइल नंबर नंबर महाराष्ट्र का था। इस मामले में गोमतीनगर थाने में अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ इंस्पेक्टर धीरज शुक्ला की तहरीर पर एफआईआर दर्ज कर पुलिस ने आरोपितों की तलाश शुरू की थी। 

Posted By: Anurag Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस