लखनऊ, राज्य ब्यूरो। विधानसभा चुनाव के लिए सामाजिक संतुलन साधने में जुटी भाजपा अब प्रदेशभर में सामाजिक सम्मेलन करने जा रही है। पंद्रह दिन की रूपरेखा तय हो चुकी है, जिसमें पिछड़ा वर्ग पर खास नजर है। रविवार को लखनऊ से शुरुआत होगी, जिसमें कुम्हार व प्रजापति समाज के वरिष्ठ नेता शामिल होंगे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बताएंगे कि सरकार और संगठन में पिछड़ा वर्ग को कितनी भागीदारी मिली है।

भाजपा ने तय किया है कि विभिन्न जाति-वर्ग तक अपनी सरकार की नीतियां और उपलब्धियां पहुंचाने के लिए सामाजिक प्रतिनिधि सम्मेलन किए जाएंगे। चुनाव तक कई सम्मेलन होने हैं, लेकिन फिलहाल पंद्रह दिन की रूपरेखा बना ली गई है। 31 अक्टूबर तक प्रस्तावित इन सम्मेलनों की शुरुआत रविवार को होने जा रही है। पहला सम्मेलन लखनऊ के अलीगंज स्थित पंचायत भवन में होने जा रहा है। इसमें पिछड़ा वर्ग से खास तौर पर कुम्हार व प्रजापति समाज के वरिष्ठ नेताओं को आमंत्रित किया गया है। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री के अलावा उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव ङ्क्षसह भी शामिल होंगे। पार्टी नेता बताएंगे कि सरकार और संगठन में पिछड़ा वर्ग को किस तरह से प्राथमिकता के आधार पर भागीदारी दी गई है। साथ ही सरकार की साढ़े चार वर्ष की उपलब्धियां और विभिन्न योजनाओं से इस जाति-वर्ग को हुए लाभ पर भी चर्चा की जाएगी। इस एक पखवाड़े में 27 सम्मेलन विभिन्न जिलों में किया जाना तय हुआ है।

सपा ने ललितपुर जिला कार्यकारिणी की भंग: समाजवादी पार्टी ने ललितपुर जिला कार्यकारिणी भंग कर दी है। ललिलपुर में सपा जिलाध्यक्ष तिलक यादव सहित लोगों के खिलाफ किशोरी से दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज हुआ है। पुलिस ने सपा जिलाध्यक्ष को गिरफ्तार कर लिया है। ऐसे में पार्टी ने शनिवार को जिलाध्यक्ष सहित पूरी कार्यकारिणी भंग कर दी है। यहां संचालन समिति गठित कर दी गई है। इसी तरह रामपुर जिले में वीरेंद्र गोयल को नया जिलाध्यक्ष बनाया गया है। उन्हें जल्द से जल्द कार्यकारिणी घोषित करने का निर्देश दिया गया है।

Edited By: Rafiya Naz