लखनऊ (जेएनएन)। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने आज सपा, बसपा और कांग्रेस पर जमकर हमला बोला। खासतौर से मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और सपा प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव पर निशाना साधते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक लाख करोड़ रुपये का अधिक आवंटन कर उत्तर प्रदेश का विकास करना चाहते हैं, लेकिन चाचा-भतीजा केंद्र सरकार का पैसा बांट रहे हैं। मायावती को भ्रष्टाचार में संलिप्त बताया जबकि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को भी आड़े हाथों लिया।

स्वामी की विधानसभा सदस्यता खत्म, पहले ही दे दिया था इस्तीफा

अमित शाह रमाबाई अंबेडकर मैदान में पूर्व नेता प्रतिपक्ष स्वामी प्रसाद मौर्य द्वारा आयोजित राज्य स्तरीय परिवर्तन रैली को बतौर मुख्य अतिथि संबोधित कर रहे थे। शाह ने कहा कि सपा और बसपा प्रदेश का भला नहीं कर सकती हैं। प्रदेश सरकार लूट का माल बांटने में उलझी है और जनता दस दिनों से इनका महाभारत देख रही है। इस यादवी महाभारत में अमर सिंह नारद की भूमिका निभा रहे हैं। अमित शाह ने बर्खास्त किये गये मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति का भी मसला उठाया और पूछा कि अगर मुख्यमंत्री ने भ्रष्टाचार के आरोप में बाहर निकाला तो फिर वापस लेने की घोषणा क्यों की। उत्तर प्रदेश में खनन के भ्रष्टाचार में जितनी काली कमाई हुई उतने में तो हर घर में एक कलर टीवी पहुंच जाता।

भाजपा राष्ट्रीय परिषद की बैठक मे शिरकत करेगे सांसद और मंत्री

मायावती पर हमलावर शाह ने स्वामी का मान बढ़ाते हुए कहा कि भाजपा के दल में ही नहीं दिल में भी बड़ी जगह है। स्वामी प्रसाद के साथ भाजपा में शामिल लोगों का स्वागत करते हुए कहा कि भाजपा आपको जोड़कर रखेगी। स्वामी बसपा के ताबूत की अंतिम कील साबित होंगे। शाह ने कहा कि मायावती के पास दिल्ली में जितने बंगले हैं उतनी कीमत में सभी दलितों के घर एयरकंडीशन लग जाते। यादव सिंह के घोटाले में माया के साथ ही सपा भी लिप्त है। कानून-व्यवस्था पर सरकार को घेरते हुए शाह ने कहा कि माया कहती हैं कि हमारी सरकार आयी तो कानून-व्यवस्था ठीक कर देंगे, लेकिन आजम खां, अतीक भाई, अंसारी बंधु और नसीमुद्दीन उप्र की कानून-व्यवस्था ठीक नहीं होने देंगे। बहन जी के राज में ही 1074 दलितों की हत्या हुई। राहुल गांधी पर तंज कसते हुए कहा कि कांग्रेस किसानों की हितैषी होती तो 65 साल में यह स्थिति नहीं होती। यूपीए की सरकार में ही 12 लाख करोड़ का भ्रष्टाचार हुआ।

राहुल का पीएम पर हमला, कहा-BJP-PDP की नीति ने आतंकियों को दिया मौका

स्वामी प्रसाद मौर्य ने मायावती पर टिकट बेचने का आरोप लगाते हुए कहा कि दलित के लिए डेढ़ करोड़, पिछड़ों के लिए तीन करोड़ से पांच करोड़ और सामान्य वर्ग के लिए पांच से दस करोड़ रुपये में बसपा के टिकट दिए जा रहे हैं। मायावती लोकतंत्र नीलाम कर रही हैं और संविधान की मर्यादा तार-तार कर दी है। उन्हें लोकलाज का भी भय नहीं है। लोकसभा में मोदी लहर का भय दिखाकर टिकटों की बोली लगाई और तिजोरी भरने में लगी रहीं। 2014 में बसपा जीरो पर आउट हो गयी। मेरे इस्तीफे के बाद अब लगातार इस्तीफे का सिलसिला चल रहा है और यह बसपा के साफ होने तक चलेगा। कहा कि माया अब मंडल स्तर पर रैलियों के लिए मजबूर हो गयीं। मायावती को दलित विरोधी करार देते हुए कहा कि वह कभी उप्र में दलित का आंसू पोंछने नहीं गयी। स्वामी ने मोदी और अमित शाह की जमकर सराहना की और कहा इनके नेतृत्व में उप्र में भाजपा की बहुमत की सरकार बनेगी। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि पहले प्रदेश सरकार में पांच सीएम बताये जाते थे, लेकिन अब तो पता ही नहीं चलता कि पांच हैं या पचास। उन्होंने दावा किया कि उप्र की जनता अखिलेश और माया को स्वीकार करने को तैयार नहीं हैं। उन्होंने स्वामी प्रसाद मौर्य की सराहना करते हुए कहा कि अब मेरा 265 प्लस का नारा तीन सौ के पार चला गया है। रैली का संचालन पूर्व मंत्री विनय शाक्य ने किया। रैली में प्रदेश प्रभारी और राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ओमप्रकाश माथुर और डॉ. दिनेश शर्मा भी मंच पर मौजूद रहे।


Posted By: Ashish Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस