लखनऊ, जेएनएन। बसपा अध्यक्ष मायावती  माघी पूर्णिमा और संत रविदास जयंती पर शुभकामना देेने के साथ भाजपा पर हमला करना नहीं भूली। उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा जातिवादी और सांप्रदायिकता परक राजनीति करती है। मंगलवार को जारी किए बयान में उन्होंने भाजपा को नसीहत देते हुए कहा कि भाजपा मन पाक साफ कर ले तो देश व प्रदेश की स्थिति बदल जाएंगी। भाजपा द्वारा छोटे मन से काम करने से देश में तमाम विकृतियां बढ़ रही हैं, आम जनता त्रस्त व दुखी है। मायावती ने भाजपा पर इमोशनली ब्लैकमेल करने का आरोप लगाते हुए कहा कि पुलवामा की दुखदाई घटना से यह साफ लग रहा है। भाजपा को समझना चाहिये कि इस प्रकार की राजनीति से देश का कोई भला होने वाला नहीं है, इसलिए देश हित में मूल तौर पर रवैया बदलने की जरूरत है।

संत स्मरण की रस्म अदायगी ठीक नहीं

मायावती ने संत रविदास के आदर्श मन चंगा तो कटौती में गंगा को जीवन में अंगीकार करने की सलाह देते हुए सत्ताधारी दल के लोगों को समझना चाहिए कि केवल संत का स्मरण करने की रस्म अदायगी न कर अपने मन को संकीर्णता, जातिवाद और सांप्रदायिकता से पाक करके मन को चंगा करें क्योंकि छोटे मन से कोई भी बड़ा नहीं हो सकता।

महंगाई, गरीबी व बेरोजगारी बढ़ी

भाजपा सरकारों द्वारा अदूरदर्शी व छोटे मन से लगातार काम करते रहने का परिणाम है कि महंगाई, गरीबी व बेरोजगारी जमकर बढ़ी। भाजपाई प्रत्येक समस्या का राजनीतिकरण करके बयानबाजी करती है। उन्होंने कहा कि संत रविदास  वाराणसी में छोटी समझी जाने वाली जाति में जन्म लेने के बावजूद प्रभु-भक्ति से ब्रम्हाकार हुए। प्रबल समाज सुधारक के तौर पर वह आजीवन कड़ा संघर्ष कर ङ्क्षहदू धर्म में व्याप्त  कुरीतियों के खि़लाफ संघर्ष करते रहें। 

Posted By: Nawal Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस