लखनऊ, जेएनएन। कांग्रेस महासचिव प्रियंका वाड्रा द्वारा उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में 40 फीसद टिकट महिलाओं को देने की घोषणा को रीता बहुगुणा जोशी ने महज शोशेबाजी बताया है। कांग्रेस की पूर्व प्रदेश अध्यक्ष और वर्तमान में भाजपा सांसद रीता ने कहा कि कांग्रेस में कभी भी महिलाओं का सम्मान नहीं रहा। अगर होता तो आधी जिंदगी कांग्रेस की सेवा में समर्पित करने के बाद न वह पार्टी छोड़तीं, न ही प्रियंका चतुर्वेदी जैसी युवा कार्यकर्ता को निराश होकर पार्टी छोड़ने का फैसला करना पड़ता। कांग्रेस की सरकारों के दौरान महिला उत्पीड़ने और शोषण की हर दिन एक नई कहानी सुनने को मिलती है। महिलाओं का दमन करने वाली कांग्रेस महिला हित की बात न करे।

प्रियंका वाड्रा की घोषणा के बाद भाजपा सांसद रीता बहुगुणा जोशी ने तीखी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि मुझ जैसी जिन महिलाओं ने ईमानदारी से कांग्रेस पार्टी की सेवा की उनको वहां अपमान और तिरस्कार मिला। कहा कि जिन महिलाओं ने कांग्रेस के लिए काम किया उन्हें ये (कांग्रेस) रोक नहीं पाए। सुष्मिता देव ने कांग्रेस क्यों छोड़ी? प्रियंका चतुर्वेदी ने कांग्रेस क्यों छोड़ी? मुझे भी अपमानित किया गया। उन्होंने कहा कि अपमानित महसूस कर सैकड़ों महिलाओं ने कांग्रेस पार्टी को त्याग दिया है। हमारी जैसी महिलाओं को वहां (कांग्रेस) पर लगता है कि राजनीतिक तौर पर शोषित किया जा रहा है। आप देखिए कई जगह चुनाव हुए कांग्रेस ने कितनी महिलाओं को टिकट दिए? बता दें कि रीता बहुगुणा जोशी जो फिलहाल भाजपा सांसद हैं। उन्होंने वर्ष 2016 में कांग्रेस छोड़ दी थी। वर्ष 2007 और वर्ष 2012 के बीच वह यूपीसीसी प्रमुख रही थीं।

भाजपा नेता रीता बहुगुणा जोशी ने कहा कि ने कहा क‍ि कांग्रेस पार्टी की सरकार ने आधी आबादी के कल्याण के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठाए। जबकि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने महिलाओं के कल्याण के लिए अनेक कार्य किए हैं। उन्होंने कहा कि यूपी में कांग्रेस की हार तय है, इसलिए यहां महिलाओं को चुनाव लड़ाने की बात करना स्वांग से ज्यादा कुछ भी नहीं। अगर उन्हें इतनी ही महिला हित की चिंता है तो क्यों नहीं अमेठी और रायबरेली की सीटों पर महिलाओं को उतारतीं। यूपी चुनाव में अपनी हार तय जानकर कांग्रेस न अब महिलाओं को प्रतिनिधित्व देने का राजनीतिक स्टंट शुरू किया है। उन्हें इससे कुछ भी हासिल होने वाला नहीं है।

Edited By: Umesh Tiwari