मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

लखनऊ (जेएनएन)। भारतीय जनता पार्टी लोकसभा चुनाव 2019 में जीत की खातिर कोई भी कसर छोडऩे को तैयार नहीं है। अब लोकसभा चुनाव तक योगी आदित्यनाथ के सभी मंत्री सरकार के साथ ही संगठन का दायित्व निभाएंगे।

भारतीय जनता पार्टी ने उनके लिए एजेंडा तय कर दिया है। इस बार लोकसभा वार समन्वय बैठकों में संगठन के पदाधिकारियों के साथ उनकी भी भागीदारी तय की गई है। मंत्रियों की निष्क्रियता को लेकर बीते दिनों आरएसएस की समन्वय बैठक में आवाज उठी तो भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने भाजपा संगठन के प्रति उनकी जवाबदेही सुनिश्चित करने के निर्देश दिये थे।

भाजपा मुख्यालय में कल देर शाम प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्र नाथ पांडेय की अध्यक्षता में मंत्रियों और संगठन के खास पदाधिकारियों की बैठक संपन्न हुई। इस हाईप्रोफाइल बैठक को लेकर जिस तरह के कयास लग रहे थे, वैसा कुछ भी नहीं हुआ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इस बैठक में नहीं थे लेकिन, उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य तथा डॉ. दिनेश शर्मा के साथ प्रदेश महामंत्री संगठन सुनील बंसल की उपस्थिति में जनवरी तक के सभी दायित्व निर्धारित किये गए।

संगठनात्मक कार्यक्रमों एवं पार्टी के अभियानों में भाजपा प्रदेश पदाधिकारी और मंत्रियों की सक्रिय भागीदारी होगी। उन्हें प्रवास भी करना होगा। भाजपा मुख्यालय की बैठक संपन्न होने के बाद प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्र नाथ पांडेय, संगठन महामंत्री सुनील बंसल, उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य व डॉ. दिनेश शर्मा समेत कुछ महत्वपूर्ण लोगों ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पांच कालिदास मार्ग स्थित आवास पर पहुंचकर चर्चा की। उन्हें बैठक के नतीजों से अवगत कराया। कुछ महत्वपूर्ण मुद्दों पर भी विमर्श किया।

लोकसभा संचालन टोलियों की बैठक में जाएंगे मंत्री

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्र नाथ पांडेय के अलावा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, सरकार के सभी मंत्री और प्रदेश पदाधिकारी दो, तीन और चार नवंबर को लोकसभा चुनाव संचालन समिति की बैठकों में शामिल होंगे। कैबिनेट मंत्रियों को दो-दो और राज्यमंत्रियों को एक-एक क्षेत्र दिये गए हैं। कहीं वरिष्ठता क्रम में संगठन के पदाधिकारी प्रमुख होंगे तो कहीं पर मंत्री। संचालन टोलियों की बैठक में बूथ समिति पुनर्गठन, मतदाता सूची पुनरीक्षण और सदस्यता की समीक्षा होगी। दस से 15 नवंबर तक पार्टी बूथ समिति अभिनंदन कार्यक्रम आयोजित करेगी। इसमें सरकार और संगठन के सभी प्रमुख लोग शामिल होंगे और बूथ समिति के सदस्यों का अभिनंदन करेंगे।

कैबिनेट के साथ 17 नवंबर को बाइक पर सवार होंगे सीएम योगी, देंगे कमल संदेश

भारतीय जनता पार्टी ने बाइक रैली से लेकर 'कमल ज्योति' महाभियान तक पार्टी की कोशिश है कि संगठन और सरकार एक। इसके साथ जमीन पर उतरें और प्रचार और जनसंपर्क में पूरे प्रदेश को एकसूत्र में पिरो दें। दो से चार नवम्बर तक लोकसभा चुनाव संचालन समितियों की बैठकें होंगी। दस से 15 नवम्बर तक पार्टी बूथ समिति अभिनंदन का कार्यक्रम आयोजित करेगी। अभिनंदन समारोह में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, प्रदेश अध्यक्ष, उपमुख्यमंत्री के साथ सभी पार्टी पदाधिकारी व मंत्री उपस्थित रहेंगे। इस दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बूथ समिति के सदस्यों का अभिनंदन करेंगे।

प्रदेश की सभी 80 लोकसभा सीटों पर होने वाली कमल संदेश बाइक रैली 17 नवंबर को होगी। सीएम योगी आदित्यनाथ और प्रदेश अध्यक्ष सहित सभी अन्य वरिष्ठ पार्टी पदाधिकारी और योगी सरकार के मंत्री बाइक पर सवार होकर रैली में शिरकत करेंगे। 17 नवंबर को 80 लोकसभा क्षेत्रों में होने वाली कमल संदेश बाइक रैली में भी मुख्यमंत्री और प्रदेश अध्यक्ष समेत पदाधिकारी और सरकार के मंत्री बाइक पर सवार होकर रैली में शामिल होंगे।विधानसभावार पदयात्रा में भी शामिल होंगे मंत्री

महात्मा गांधी की जयंती के 150वें वर्ष पर एक दिसंबर से 15 दिसंबर तक सभी 403 विधानसभा क्षेत्रों में पदयात्रा निकलेगी। इस दौरान प्रत्येक विधानसभा में पार्टी के कम से कम 25-25 कार्यकर्ता की हर जगह छह अलग-अलग टोलियां बनाकर 150 किलोमीटर पदयात्रा करनी है। सभी पदयात्राओं का शुभारंभ और समापन का स्थान निश्चित किया जा रहा है।

लाभार्थियों के घर जाकर जलाएंगे कमल दीपक

पार्टी के कमल विकास ज्योति के इस महाभियान पर भी चर्चा हुई। आने वाले 26 जनवरी को शाम पांच बजे से आयोजित होने वाले कमल विकास ज्योति महाभियान के तहत बूथ स्तर पर पार्टी कार्यकर्ता बूथ समिति के सदस्यों के साथ मोदी-योगी सरकार की योजनाओं के लाभार्थियों के घर पर जाकर कमल का दीपक जलाकर लाभार्थी परिवार के साथ उत्सव मनाएंगे साथ ही केंद्र व प्रदेश सरकार की उपलब्धियों की जानकारी भी देंगे।

मुलायम व आजम के गढ़ में केशव, अपना व मोदी का क्षेत्र संभालेंगे महेंद्र पांडेय 

भाजपा ने संगठन और सरकार के लोगों की निगरानी में लोकसभा चुनाव की तैयारियों का खाका तैयार किया है। दो से चार नवंबर तक चलने वाली लोकसभा संचालन टोलियों की बैठक के लिए क्षेत्र निर्धारित किये गए हैं। प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्र नाथ पांडेय अपने संसदीय क्षेत्र चंदौली के साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के क्षेत्र वाराणसी की बैठक में जाएंगे, जबकि उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य मुलायम सिंह यादव के गढ़ मैनपुरी और आजम खां के रामपुर लोकसभा क्षेत्र की बैठक में शामिल होंगे।

राष्ट्रीय सह महामंत्री संगठन शिवप्रकाश को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और संप्रग अध्यक्ष सोनिया गांधी के क्षेत्र रायबरेली, उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा को आगरा और मुरादाबाद, प्रदेश महामंत्री संगठन सुनील बंसल को सहारनपुर, बदायूं, डुमरियागंज क्षेत्र में जाना है।

Posted By: Dharmendra Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप