v>लखनऊ (जेएनएन)। बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख व पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने चुनाव में फोटोयुक्त पहचान पर्ची की व्यवस्था (वीवीपीएटी) लागू करने का स्वागत किया है लेकिन अपने कार्यकर्ताओं को सचेत रहने की ताकीद भी की है। उन्होंने कहा कि सत्ता खोने से आशंकित भाजपा मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में फिर धांधली कर सकती है। मायावती ने मध्य प्रदेश के पदाधिकारियों के साथ बैठक की और वहां चल रही चुनावी तैयारियों की समीक्षा की।

किसान व मजदूर वर्ग ज्यादा दुखी 
जमीनी स्तर की पार्टी गतिविधियों का फीडबैक प्राप्त करने के बाद मायावती ने कहा कि मध्य प्रदेश में किसान व खेतिहर मजदूर वर्ग के लोग सबसे ज्यादा दुखी व परेशान हैं। लोग जब अपनी मांगों के समर्थन में सड़क पर उतरते हैं तो सरकार जुल्म-ज्यादती का शिकार बनाती है। उन्होंने आरोप लगाया कि बीजेपी की सरकार खासकर मध्य प्रदेश में दलितों, पिछड़ों, मुस्लिम व अन्य धार्मिक अल्पसंख्यकों के साथ बर्बर व्यवहार कर रही है। 
उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश में कानून-व्यवस्था की भी हालत अच्छी नहीं है।
पूरे प्रदेश में भ्रष्टाचार का बोलबाला
माफियाओं की हिम्मत इतनी ज्यादा बढ़ गयी है कि वे अधिकारियों पर भी हमले कर रहे हैं। पूरे प्रदेश में भ्रष्टाचार का बोलबाला है। व्यापम घोटाला इसका उदाहरण है, जिसमें सत्ताधारी पार्टी बीजेपी के शक्तिशाली लोगों को बचाने का प्रयास किया जा रहा है। मायावती ने कहा कि मध्य प्रदेश में बीजेपी सरकार के खिलाफ माहौल है। ऐसे में इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) से चुनावी धांधली कराने की आशंका और ज्यादा बढ़ गई है। फोटोयुक्त पर्ची का आदेश लागू होने के बाद भी कार्यकर्ता इस पर सतर्क रहें।

By Nawal Mishra