लखनऊ, जेएनएन। कानपुर, पीलीभीत और उन्नाव के बाद अब देवरिया के पक्षियों में बर्ड फ्लू मिलने की पुष्टि हुई है। आशंका के चलते देखते निगरानी बढ़ा दी गई है। इस बीच विभिन्न जिलों में पक्षियों की मौत का सिलसिला जारी है। जालौन में एट क्षेत्र के ग्राम बिलांया में शनिवार को 32 कौए मृत मिले जबकि कुछ उडऩे में असमर्थ थे। जानकारी पर गांव में अफरातफरी मच गई। पशुपालन विभाग की टीम गांव पहुंची। उन्होंने मृत कौओं में बर्ड फ्लू की आशंका से इन्कार किया और सैंपल लेकर सभी को दफन करा दिया। कानपुर में एक कबूतर मृत मिला। बांदा, चित्रकूट, हमीरपुर, महोबा, औरैया, इटावा, फतेहपुर, कन्नौज, फर्रुखाबाद, उन्नाव और कानुपर देहात में कोई मामला सामने नहीं आया है। 

प्रयागराज में शनिवार को जार्जटाउन के कानू ने जानकारी दी कि उनके घर के सामने अचानक चिडिय़ा गिरकर अचेत हो गई है। ठंड की वजह से ऐसा मिलने पर उपचार कके बाद उसे छोड़ दिया गया। अब तक प्रयागराज, प्रतापगढ़ और कौशांबी से भी कोई केस नहीं मिला है। पशु चिकित्सा विभाग की टीम सतर्क है। 

देवरिया में बर्ड फ्लू ने दस्तक दे दी है। भारतीय पशु चिकित्सा अनुसंधान संस्थान (आइवीआरआइ) बरेली से आई रिपोर्ट में यहां से भेजे गए छह कौए व बगुला में बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई है। इनमें एवियन इंफ्लूएंजा के वायरस पाए गए हैं। सतर्कता के लिए जिले में पोल्ट्री फार्म और प्रवासी पक्षियों की निगरानी बढ़ा दी गई है। देवरिया के मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डा. विकास साठे ने बताया कि जिले के तीन स्थानों पर मृत पाए गए कौए और बगुला में एवियन इंफ्लूएंजा वायरस की पुष्टि हुई है। 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021