लखनऊ, जेएनएन। Bird Flu Alert in UP: बर्ड फ्लू की आशंका को देखते सतर्कता, जागरूकता, निगरानी और सैंपल जांच का काम सतत चल रहा है। इसके चलते कानपुर, पीलीभीत, उन्नाव और देवरिया को छोड़कर किसी जिले में बर्ड फ्लू के संकेत नहीं है। हालांकि, शीतलहर के चपेट में आकर पक्षियों की मौत का सिलसिला जारी है। 

रविवार को उन्नाव में एक बंद पड़े कारखाने के पास सात चिडिय़ां मृत मिलीं। पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ. राहुल सचान के निर्देशन पर पशुधन प्रसार अधिकारी देवानंद ने सैंपल लेकर शव दफन करा दिए। उन्नाव में बीते एक माह में 20 चिडिय़ा की मौत हो चुकी है। वहीं, कन्नौज में घायलावस्था में मिले एक कबूतर को उपचार कर छोड़ा गया।

 कानपुर में दबौली में एक कौआ मृत मिला। इस बीच पशुपालन विभाग ने रविवार को 66 और मुर्गों के नमूने भेजे हैं। विभाग ने निर्णय लिया है कि अगर इस बार भी नमूने निगेटिव आते हैं तो पोल्ट्री फॉर्म खोल दिए जाएंगे। उन्हें खोलने के लिए दस किमी की बाध्यता खत्म कर दी जाएगी।

मिर्जापुर के रजौहां गांव में रविवार को सुबह 30 से अधिक की संख्या में पीहू पक्षी मृत मिलीं। दर्जन भर पक्षियां तड़फड़ाते देखी गईं। स्वास्थ्य विभाग की टीम के अनुसार प्राथमिक जांच में बर्ड फ्लू का लक्षण नहीं है। सैंपल लेकर जांच के लिए भेजने की तैयारी की जा रही है। प्रयागराज, प्रतापगढ़ और कौशांबी में कोई केस नहीं मिला। टीमें लगातार निगरानी कर रही हैं। 

प्रयागराज में मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डॉ. आरपी राय ने बताया कि हेल्पलाइन नंबर पर आ रही शिकायत मिलते ही टीम तत्काल मौके पर भेजी जा रही है। शिकायतों का ग्राफ भी कम हुआ है। बांदा, चित्रकूट, हमीरपुर, महोबा, उरई, औरैया, इटावा, फर्रुखाबाद, फतेहपुर, कानपुर देहात में कोई भी मामला सामने नहीं आया।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021