लखनऊ, जागरण संवाददाता। कानपुर में बिकरु कांड के मुख्य आरोपित विकास दुबे के भाई दीप प्रकाश की पत्नी अंजली का मकान सोमवार को पुलिस ने सील कर द‍िया। कानपुर आउटर पुलिस ने लखनऊ के कृष्णानगर में इंद्रलोक कालोनी स्थित मकान नंबर के-528 पर कार्रवाई की। यह कार्रवाई गैंगेस्टर एक्ट के तहत की गई है। पुलिस का दावा है कि अपराध से अर्जित रकम से संपत्ति अर्जित की गई थी। मकान की कीमत एक करोड़ 40 लाख 95 हजार बताई जा रही है। डीसीपी मध्य अपर्णा रजत कौशिक के मुताबिक कानपुर पुलिस की टीम आई थी। लखनऊ पुलिस की मौजूदगी में कार्रवाई की गई है।

दो जुलाई 2020 की रात में गैंगेस्टर विकास दुबे को गिरफ्तार करने पुलिस टीम बिकरू गांव गई थी। इस दौरान विकास और उसके साथियों ने पुलिसकर्मियों पर हमला बोल दिया था। इसमें सीओ व बिकरु थाने के तत्कालीन एसओ समेत आठ पुलिसकर्मी बलिदान हो गए थे। विकास दुबे को उज्जैन से एसटीएफ ने गिरफ्तार किया था। आराेपित पुलिस मुठभेड़ में मारा गया था। विकास के पांच साथियों को भी पुलिस ने मुठभेड़ में मार गिराया था।

कृष्‍णानगर थाने में दर्ज है एफआइआर

कृष्णानगर थाने में भी विकास और उसके भाई के खिलाफ रंगदारी, धोखाधड़ी व धमकी समेत अन्य धाराओं में एफआइआर दर्ज की गई थी। दीप प्रकाश पर इनाम घोषित हुआ था, जिसके बाद उसने कोर्ट में आत्म समर्पण कर दिया था। इस मामले में कुल 44 आरोपित गिरफ्तार कर जेल भेजे गए थे। पुलिस सभी आरोपितों की अवैध रूप से अर्जित की गई संपत्ति का ब्योरा खंगाल कर लगातार कार्रवाई कर रही है।

दस साल पहले खरीदा था मकान 

दीप ने पत्नी अंजली के नाम 10 साल पहले मकान खरीदा था। पुलिस का दावा है कि मकान खरीदने में विकास की अवैध ढंग से कमाई गई रकम भी लगाई गई थी। इसी मकान में विकास की मां भी रहती थीं, जबकि उसके पिता गांव में रहते थे। पुलिस ने डुगड़ुगी पिटवाकर कार्रवाई की। कानपुर पुलिस विकास और उसके परिवार के नाम दर्ज संपत्तियों का ब्योरा खंगाल रही है। इससे पहले लखनऊ पुलिस ने अंजली के घर का सामान भी जब्त किया था।

Edited By: Anurag Gupta

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट